प्रदेश की जनता का भी प्रधानमंत्री के साथ विशेष नाता है और यह राज्य के लिए गौरव का विषय है

Jai Ram Thakur
जय राम ठाकुर ने कहा कि यह हिमाचल प्रदेश के इतिहास में एक रिकार्ड है कि प्रधानमंत्री ने एक दिन में ही 11,581 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय परियोजना रेणुका जी जिसकी आधारशिला आज प्रधानमंत्री ने रखी है में 40 मेगावाट विद्युत क्षमता वाले सतही विद्युत घर में न केवल 200 मिलियन यूनिट ऊर्जा का उत्पादन होगा

शिमला   मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने छोटी काशी मण्डी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश का सौभाग्य है कि हमें प्रधानमंत्री का विशेष स्नेह प्राप्त है और वह राज्य की विकासात्मक मांगों के प्रति सदैव संवेदनशील रहते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता का भी प्रधानमंत्री के साथ विशेष नाता है और यह राज्य के लिए गौरव का विषय है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस छोटी काशी को धार्मिक पर्यटन के लिए पसंदीदा गंतव्य बनाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि मंडी के कंगनीधार में 183 करोड़ रुपये की लागत से शिवधाम का निर्माण किया जा रहा है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि यह हिमाचल प्रदेश के इतिहास में एक रिकार्ड है कि प्रधानमंत्री ने एक दिन में ही 11,581 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय परियोजना रेणुका जी जिसकी आधारशिला आज प्रधानमंत्री ने रखी है में 40 मेगावाट विद्युत क्षमता वाले सतही विद्युत घर में न केवल 200 मिलियन यूनिट ऊर्जा का उत्पादन होगा, बल्कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली को प्रति सेकंड 23 क्यूबिक मीटर पानी की आपूर्ति से दिल्ली की 40 प्रतिशत पेयजल की आवश्यकता पूरी होगी।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के दूसरे ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह की अध्यक्षता की

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार की आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य के  4.25 लाख से अधिक परिवारों को कवर किया गया है और 1.16 लाख लाभार्थियों के निःशुल्क ईलाज के लिए 139.13 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। इसी तरह मुख्यमंत्री स्वास्थ्य देखभाल योजना-हिमकेयर के तहत 5.13 लाख परिवारों को पंजीकृत किया गया है और इस योजना के तहत 2.17 लाख लोगों के निःशुल्क उपचार के लिए लगभग 200 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सहारा योजना के तहत गंभीर बीमारी से ग्रसित रोगियों के परिवारों को 3000 रुपये प्रतिमाह की सहायता दी जा रही है। इस योजना के तहत अब तक 16,820 लाभार्थियों को 56.13 करोड़ रुपये प्रदान किए जा चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी ने दी हिमाचल को बड़ी सौगात , दिल से धन्यवाद : नड्डा

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में 6.09 लाख से अधिक लोगों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है और वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल के दौरान सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लगभग 1.95 लाख नए मामले स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जनमंच और मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100 जैसी योजनाएं राज्य के लोगों की समस्याओं का उनके घर के समीप और दूरभाष के माध्यम से त्वरित समाधान के लिए वरदान साबित हुई हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत अब तक 1.36 लाख परिवार लाभान्वित हुए हैं। इस पर 21.81 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं और मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के तहत 119.90 करोड़ रुपये व्यय कर 3.23 लाख परिवारों को कवर किया गया है।

इसे भी पढ़ें: युग पुरुष मास्टर मित्र सेन--मास्टर मित्रसेन की जयंती पर विशेष

मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल टनल प्रधानमंत्री द्वारा प्रदेश के लोगों को दिया गया सबसे बड़ा उपहार है। उन्होंने कहा कि यह टनल न केवल दुर्गम जिला लाहौल-स्पीति के लोगों के लिए वरदान साबित हुई है बल्कि एक मुख्य पर्यटन आकर्षण के रूप में भी उभरी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा तथा प्रोत्साहन के परिणामस्वरूप हिमाचल प्रदेश न केवल देश में पात्र आयु वर्ग को पहली डोज लगवाने में शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने में प्रथम प्रदेश बना है बल्कि प्रदेश की पात्र आबादी को दूसरी डोज लगवाने में शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने में भी देश का पहला राज्य बना है। उन्होंनेे कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश को उदार सहायता प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होेंने प्रधानमंत्री को आश्वस्त किया कि प्रदेश उनकी घोषणा के अनुसार 3 जनवरी, 2022 से राज्य में प्रभावी रूप से बूस्टर तथा प्रीकाॅशनरी डोज लगवाएगा।

इसे भी पढ़ें: प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार मोदी की मंडी रैली में नहीं जायेंगे

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार कठिन परिश्रम, समर्पण तथा लोगों की सेवा करते हुए राज्य में प्रत्येक पांच वर्ष के बाद सरकार बदलने की प्रथा को तोड़ने के लिए प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र तथा प्रदेश में डबल इंजन की सरकार के परिणामस्वरूप आज राज्य में बिलासपुर में एम्स के अतिरिक्त सरकारी क्षेत्र में छः मेडिकल काॅलेज तथा निजी क्षेत्र में एक मेडिकल काॅलेज, अटल टनल तथा ऊना में पीजीआई का सेटेलाइट केंद्र विद्यमान है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा 6 सितम्बर, 2021 को अपने संबोधन में राज्य के लिए निर्धारित किए गए छः लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए भी प्रदेश प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ड्रोन तकनीक को व्यापक स्तर पर बढ़ावा दिया जा रहा है जिसमें स्वास्थ्य तथा अन्य क्षेत्रों पर विशेष बल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि टांडा से धर्मशाला तक ड्रोन तकनीक के माध्यम से दवाइयां पहुचाई गई।

प्रधानमंत्री का दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2019 में धर्मशाला में आयोजित अन्तरराष्ट्रीय इन्वेस्टर्ज़ मीट में प्रधानमंत्री की उपस्थिति से प्रदेश के लोग बेहद प्रसन्न थे। इस इन्वेस्टर्ज़ मीट में 96 हजार करोड़ रुपये के समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किए गए थे तथा उसी वर्ष 27 दिसम्बर को 13500 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की पहली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी भी आयोजित की गई।

अन्य न्यूज़