छह वर्षीय बच्ची ने अश्लील वीडियो देखने से किया मना तो दोस्तो ने कर दी पीट-पीट कर हत्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 22, 2021   14:17
छह वर्षीय बच्ची ने अश्लील वीडियो देखने से किया मना तो दोस्तो ने कर दी पीट-पीट कर हत्या

असम मेंअश्लील वीडियो देखने से मना करने पर तीन बच्चों ने की छह वर्षीय बच्ची की हत्या कर दी।नागांव पुलिस अधीक्षक आनंद मिश्रा ने बताया कि यह घटना सोमवार शाम को हुई थी और कालियाबोर उपमंडल के निजोरी में स्थित पत्थर तोड़ने की एक मिल के शौचालय से बच्ची का शव बरामद किया गया।

नागांव (असम)।असम के नागांव जिले में छह वर्षीय अपनी दोस्त की कथित तौर पर पीट-पीट कर हत्या करने के मामले में तीन बच्चों को हिरासत में लिया गया है, जिनमें से एक बच्चे की आयु आठ वर्ष और दो अन्य बच्चों की आयु 11 वर्ष है। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि बच्ची ने लड़कों के साथ मोबाइल फोन पर अश्लील वीडियो देखने से इनकार कर दिया था जिसके बाद उन्होंने कथित तौर पर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि एक आरोपी के पिता को कथित तौर पर साक्ष्य छिपाने के कारण गिरफ्तार किया गया है। नागांव पुलिस अधीक्षक आनंद मिश्रा ने बताया कि यह घटना सोमवार शाम को हुई थी और कालियाबोर उपमंडल के निजोरी में स्थित पत्थर तोड़ने की एक मिल के शौचालय से बच्ची का शव बरामद किया गया।

इसे भी पढ़ें: महिला आयोग ने शिक्षिका की हत्या के मामले में ओडिशा के दो मंत्रियों को हटाने की मांग की

मिश्रा ने बताया कि तीनों लड़कों ने बच्ची के परिजनों को बताया कि वह शौचालय में अचेत पड़ी है। परिवार वाले बच्ची को लेकर अस्पताल गए, जहां उसे मृत अवस्था में लाया गया घोषित कर दिया गया। उन्होंने बताया कि शव पर चोट के निशान पाए गए हैं और पुलिस ने बच्ची की कथित तौर पर हत्या में शामिल होने के मामले में 11-11 साल के दो लड़कों और आठ वर्ष के एक लड़के को बुधवार को हिरासत में ले लिया। घटनास्थल का मुआयना कर चुके एसपी ने कहा, “तीनों लड़के बच्ची को पहले से जानते थे और उन्होंने उससे फोन पर अश्लील वीडियो देखने को कहा। बच्ची द्वारा वीडियो देखने से मना करने पर लड़कों ने उसे पीटा जिससे उसकी मौत हो गई।” मिश्रा ने कहा कि एक आरोपी के पिता को कथित तौर पर साक्ष्य छिपाने और पुलिस के साथ सहयोग नहीं करने के कारण गिरफ्तार किया गया है। एसपी ने कहा कि आगे की जांच जारी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।