भ्रष्ट ​अधिकारियों के खिलाफ योगी सरकार ने छेड़ी मुहिम: भाजपा

Yogi government campaigns against corrupt officials bjp
भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा, 'मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचारियों और नाकारा अफसरों के खिलाफ तगड़ी मुहिम छेड़ दी है। पीडब्लूडी के 22 इंजीनियरों समेत तमाम अफसरों की बर्खास्तगी और भ्रष्टाचार के मामलों में तमाम अफसरों की गिरफ्तारी इसका सबसे बड़ा सबूत है। 'उन्होंने कहा कि इस कार्रवाई के जरिए सरकार ने यह साबित कर दिया है कि भ्रष्टाचार को लेकर सरकार की नीति 'जीरो टालरेंस' की है और ऐसे अफसर, जो या तो भ्रष्टाचार में लिप्त हैं या फिर जनता के काम करने को तैयार नहीं हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

त्रिपाठी ने कहा कि नौकरशाही के भ्रष्टाचार और नाकारेपन से त्रस्त प्रदेश की जनता ने इन कमियों को दूर करने के वादे पर विश्वास करके ही भारतीय जनता पार्टी को जनादेश दिया था। अब सरकार जनभावनाओं के अनुरूप काम करने में जुटी हुई है। प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार भी भ्रष्टाचार के खिलाफ तेजी से कार्रवाई कर रही है। पिछले 30 महीनों के दौरान 3,896 अफसरों के खिलाफ भ्रष्टाचार के 1,629 मामले दर्ज किए गए हैं। इन 1,629 मामलों में कुल 9,960 लोग आरोपी बनाए गए हैं। इनमें 42 लोग राजनीतिक पृष्ठभूमि के हैं जबकि 6,023 लोग अलग अलग क्षेत्रों से हैं। ये अपने आप में रिकार्ड है।

उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार की तरफ से की गई इस कार्रवाई में हर रोज औसत 11 ऐसे लोगों को जेल भेजा गया है जो भ्रष्टाचार में लिप्त थे। पिछले साल की तुलना में इस साल ऐसी कार्रवाई में दस फीसदी की बढोत्तरी हुई है। केन्द्र सरकार की मजबूत पैरवी के चलते हर रोज तीन भ्रष्टाचारियों को जेल की सजा हुई है। भ्रष्टाचार के खिलाफ यह अपने आप में एक ऐतिहासिक कार्रवाई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़