भारतीय महिला रिकर्व टीम ने रचा इतिहास, तीसरे चरण में मेक्सिको को हराकर स्वर्ण पदक जीता

Indian womens recurve team clinches gold at World Cup Stage 3
भारतीय टीम 3-1 से आगे थी और उसने तीसरे सेट में भी अच्छे निशाने लगाते हुए 55 अंक जुटाये लेकिन मेक्सिको की टीम बराबरी नहीं कर सकी औरएक अंक से तीसरा सेट गंवा बैठी। इस तरह उसे इस साल लगातार दूसरी हार झेलनी पड़ी।इससे पहले शनिवार को अभिषेक वर्मा ने कम्पाउंड व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था।

पेरिस। दीपिका कुमारी, अंकिता भगत और कोमोलिका बारी की भारतीय महिला रिकर्व टीम ने शनिवार को यहां विश्व कप के तीसरे चरण में मेक्सिको पर आसान जीत से स्वर्ण पदक अपने नाम किया। टीम पिछले हफ्ते ओलंपिक क्वालीफाई करने से चूक गयी थी और इस स्वर्ण पदक से उसने इस निराशा को कम करने की कोशिश की। दुनिया की तीसरे नंबर की तीरंदाज दीपिका, अंकिता और कोमोलिका की तिकड़ी ने विश्व कप के पहले चरण के फाइनल में भी मेक्सिको को हराकर पहला स्थान हासिल किया था। उसने इस तीसरे चरण में भी मेक्सिको को 5-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता और इस दौरान एक भी सेट नहीं गंवाया। इस साल यह विश्व कप में उनका लगातार दूसरा और कुल मिलाकर छठा (शंघाई 2011, मेडेलिन 2013, रोक्लॉ 2013, रोक्लॉ 2014, ग्वाटेमाला सिटी 2021) स्वर्ण पदक है।

इसे भी पढ़ें: साजन प्रकाश ने इतिहास रचा, टोक्‍यो ओलंपिक में सीधे क्‍वालीफाई करने वाले पहले भारतीय तैराक बने

हर बार टीम में दीपिका शामिल थी। भारतीय टीम का प्रदर्शन शानदार रहा जिसमें पहले सेट में स्कोर 57-57 था। लेकिन दूसरे सेट में भारतीय टीम ने मेक्सिको की टीम पर दबाव बनाया जिसमें लंदन 2012 की रजत पदक विजेता ऐडा रोमन, एलेजांद्रा वालेंसिया और अन्ना वाज्क्वेज शामिल थीं। दूसरे सेट में मेक्सिको की टीम 52 अंक जुटाकर तीन अंक से पिछड़ गयी। भारतीय टीम 3-1 से आगे थी और उसने तीसरे सेट में भी अच्छे निशाने लगाते हुए 55 अंक जुटाये लेकिन मेक्सिको की टीम बराबरी नहीं कर सकी और एक अंक से तीसरा सेट गंवा बैठी। इस तरह उसे इस साल लगातार दूसरी हार झेलनी पड़ी। इससे पहले शनिवार को अभिषेक वर्मा ने कम्पाउंड व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़