Sports Highlights: खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन, भारत की झोली में आए 2 गोल्ड मेडल

Sports Highlights: खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन, भारत की झोली में आए 2 गोल्ड मेडल

एक तरफ निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के आर-2 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 में अवनि लेखरा ने स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा, तो दूसरी तरफ जैवलिन थ्रो स्पर्धा में सुमित आंतिल ने कमाल का प्रदर्शन देते हुए एक और गोल्ड भारत की झोली में डाल दिया।

सोमवार को तोक्यो पैरालंपिक खेलों में आज भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया। एक तरफ निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के आर-2 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 में अवनि लेखरा ने स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा, तो दूसरी तरफ जैवलिन थ्रो स्पर्धा में सुमित आंतिल ने कमाल का प्रदर्शन देते हुए एक और गोल्ड भारत की झोली में डाल दिया इसके साथ उन्होंने जैवलिन थ्रो में एक नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। 

पैरालंपिक में स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी निशानेबाज अवनि लेखरा

भारत की अवनि लेखरा ने सोमवार को यहां तोक्यो पैरालंपिक खेलों की निशानेबाजी प्रतियोगिता में महिलाओं के आर-2 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा। जयपुर की रहने वाली यह 19 वर्षीय निशानेबाज पैरालंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गयी हैं. उनकी रीढ़ की हड्डी में 2012 में कार दुर्घटना में चोट लग गयी थी। उन्होंने 249.6 अंक बनाकर विश्व रिकार्ड की बराबरी की।

जैवलिन थ्रो में देवेंद्र-सुंदर का जोरदार प्रदर्शन, भारत की झोली में दो और मेडल

देवेंद्र झाझरिया और सुंदर सिंह गुर्जर ने पुरुषों की भाला फेंक में रजत और कांस्य पदक जीता। अपने बेहतीरन प्रदर्शन की बदौलत भारत की झोली में अब तक कुल 6 मेडल हासिल कर लिया है। आपको बता दें कि यह झाझरिया का तीसरा पैरालंपिक पदक है, उन्होनें इससे पहले एथेंस 2004 और रियो 2016 में स्वर्ण पदक जीता है।

तोक्यो पैरालंपिक में रजत पदक जीतने वाले योगेश कथूनिया ने कोच के बिना किया था अभ्यास!

चक्का फेंक के भारतीय एथलीट योगेश कथूनिया के लिये तोक्यो पैरालंपिक में जीते गये रजत पदक का महत्व स्वर्ण पदक जैसा है क्योंकि उन्होंने कोच के बिना अभ्यास किया था और एक साल से भी अधिक समय से कोचिंग के बिना पदक जीतने से वह बेहद खुश हैं। इस 24 वर्षीय एथलीट ने सोमवार को अपने छठे और आखिरी प्रयास में 44.38 मीटर चक्का फेंककर रजत पदक जीता। उन्होंने इसके बाद कहा, ‘‘यह शानदार है। रजत पदक जीतने से मुझे पेरिस 2024 में स्वर्ण पदक जीतने के लिये अधिक प्रेरणा मिली है।’’

पैरालंपिक: दो खराब शॉट्स के कारण भारतीय निशानेबाज स्वरूप महावीर चौथे स्थान पर खिसके

भारतीय निशानेबाज स्वरूप महावीर उनहालकर R1 पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल - SH1 फाइनल में शीर्ष स्थान से खिसककर चौथे स्थान पर आ गए। उन्हालकर ने फाइनल के लिए सातवें स्थान पर क्वालीफाई किया था, लेकिन फाइनल में पहले 10 शॉट्स में 102.1 की शूटिंग के बाद वह शीर्ष स्थान पर पहुंच गए थे।

पैरालंपिक में गोल्ड जीतने के बाद अवनि लेखरा बोलीं, ऐसा लग रहा है जैसे दुनिया में शीर्ष पर हूं

अवनि लेखरा को 2012 में एक कार दुर्घटना में घायल होने के कारण व्हील चेयर का सहारा लेना पड़ा लेकिन सोमवार को पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनने के बाद उन्हें लगता है कि जैसे कि वह दुनिया में शीर्ष पर हैं। अवनि ने एक बार में केवल एक शॉट पर ध्यान दिया और महिलाओं की आर-2 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 में पहला स्थान हासिल करके स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं कर सकती। मुझे ऐसा लग रहा है जैसे कि मैं दुनिया में शीर्ष पर हूं। इसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।’’

तोक्यो पैरालिंपिक में विनोद कुमार की डिस्कस थ्रो कांस्य पर रोक, होल्ड पर रखा गया रिजल्ट

भारत के विनोद कुमार ने विकार के क्लासिफिकेशन निरीक्षण में ‘अयोग्य’ पाये जाने के बाद पैरालंपिक में पुरूषों की एफ52 चक्का फेंक स्पर्धा का कांस्य पदक गंवाया। विनोद ने तोक्यो पैरालिंपिक में कांस्य पदक जीता था लेकिन रविवार को उनके विकलांगता वर्गीकरण के विरोध के बाद रिजल्ट को होल्ड पर रख दिया है।

हरियाणा के छोरे ने दिखाया कमाल, सुमित अंतिल ने वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ जीता गोल्ड मेडल

सोमवार को तोक्यो पैरालंपिक में जैवलिन थ्रो स्पर्धा में सोनीपत का छोरा सुमित आंतिल ने भारत की झोली में एक और गोल्ड डाल दिया है। बता दें कि उन्होंने तोक्यो में अपना कमाल का प्रदर्शन देते हुए वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। यह पहली बार है कि सुमित ने जेवलिन थ्रो के F-64 इवेंट के अपने दूसरे प्रयास में 68.08 मीटर का थ्रो किया और विश्व रिकॉर्ड बनाया।