नये नियमों से खेल रोचक, पेशेवर हो गया है: विराट कोहली

Virat Kohli says New regulations make things exciting and professional
भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ कल से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे श्रृंखला खेलने उतरेगा तो आईसीसी के नये नियमों के तहत यह उसकी पहली श्रृंखला होगी।

मुंबई। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि एकदिवसीय क्रिकेट में नियमों से खेल और रोचक तथा पेशेवर हो गया है। भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ कल से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे श्रृंखला खेलने उतरेगा तो आईसीसी के नये नियमों के तहत यह उसकी पहली श्रृंखला होगी। कोहली ने मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘ कुछ नियम काफी कठिन हैं। बल्लेबाज के क्रीज पर पहुंचने के बाद अगर बल्ला हवा में उठ जाता है तो भी वह नाट आउट होगा।

डीआरएस में अंपायर के फैसले का नियम। कुछ नियम है जो काफी रोचक हैं। कैचिंग को लेकर भी नियम है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ इन नये नियमों के बारे में जानकारी जरूरी है। शुरूआत में कठिनाई होती है लेकिन हमें इसकी आदत हो जायेगी।’’ उन्होंने कहा ,‘‘यह अच्छी बात है। नये नियमों से खेल और रोमांचक और पेशेवर हो जायेगा। आपको मैदान पर कई बातों पर ध्यान देना होगा जिससे खेल के दौरान जरूरी बातों पर फोकस बढेगा।’’ नये नियमों के तहत मुख्य बदलाव यह होगा कि टीमें डीआरएस के तहत रिव्यू नहीं गंवायेंगी अगर पगबाधा रेफरल अंपायर के फैसले पर बदल जायेगा।

आईसीसी ने अंपायरों को यह अधिकार भी दिया है कि बदसलूकी की घटना पर वे खिलाड़ियों को बाहर कर सकते हैं। बाकी सभी अपराधों से आईसीसी की आचार संहिता के तहत निपटा जायेगा। बल्ले के बीच की मोटाई और किनारों की मोटाई को लेकर भी पाबंदियां हैं। इसके अलावा क्रीज पार करने के बाद भी अगर बल्ला हवा में है तो बल्लेबाज को रन आउट नहीं माना जायेगा। कल अपना 200वां वनडे खेलने जा रहे कोहली ने कहा कि टीम के लिये रैंकिंग मायने नहीं रखती। उन्होंने कहा ,‘‘ हम रैंकिंग के बारे में नहीं सोचते।

अंक बंट जाते हैं। हमारा ब्रेक रहा और उस दौरान दक्षिण अफ्रीका खेल रहा था तो आप कुछ नहीं कर सकते। आप यह सोचकर दुखी नहीं हो सकते कि आपकी शीर्ष रैंकिंग चली गई।’’ दक्षिण अफ्रीका ने रेटिंग अंकों के आधार पर भारत को आईसीसी वनडे रैंकिंग में शीर्ष स्थान से हटा दिया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़