जानिए क्यों मनाई जाती है मीठी ईद और क्या होता है इस खास दिन

जानिए क्यों मनाई जाती है मीठी ईद और क्या होता है इस खास दिन
ANI

ईद उल फितर या मीठी ईद को रमज़ान के एक महीने के बाद मनाया जाता है। यह एक मज़हबी ख़ुशी का त्योहार है, जो आपसी भाईचारे को बढ़ावा देने पर जोर देता है। इस्लामी कैलंडर के शावाल महीने में यह त्योहार नए चांद के दिखने पर शुरू होता है।

रमजान का पाक महीना चल रहा है। इस महीने में मुसलमान अपने परिवार और करीबी दोस्तों के साथ उपवास करते हैं। इस दौरान मुसलमान विशेष नमाज भी अदा करते हैं। साथ ही उन्हें बेसब्री से इंतजार रहता है मीठी ईद का। मीठी ईद जिसे ईद अल-फितर भी कहा जाता है, इस्लामिक कैलेंडर के महीने शावाल के पहले दिन मनाया जाता है। यह एक ऐसा त्योहार  है, जो विशेष रूप से मुस्लिम समुदाय के लिए बेहद ही खास होता है और सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व में मुस्लिम समुदाय के लोग बेहद ही हर्षोल्लास के साथ मीठी ईद मनाते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको ईद अल-फितर के बारे में बता रहे हैं-

कब मनाया जाता है यह त्योहार

ईद उल फितर या मीठी ईद को रमज़ान के एक महीने के बाद मनाया जाता है। यह एक मज़हबी ख़ुशी का त्योहार है, जो आपसी भाईचारे को बढ़ावा देने पर जोर देता है। इस्लामी कैलंडर के शावाल महीने में यह त्योहार नए चांद के दिखने पर शुरू होता है। जब पहली बार इस महीने में अर्धचंद्र नजर आता है, तो उसके बाद ईद मनाई जाती है।

भारत में ईद उल-फितर 2022 कब मनाई जाएगी?

इस साल ईद उल-फितर भारत में 2 मई की रात से शुरू होगी और 3 मई 2022 की शाम तक इसे सेलिब्रेट किया जाए। केंद्र सरकार के कैलेंडर के अनुसार मीठी ईद एक सरकारी अवकाश होगा।

इसे भी पढ़ें: Ramdan 2022: जानें कैसे शुरू हुई थी रोजा रखने की परंपरा और क्या हैं इसके नियम

हर साल एक तारीख पर क्यों नहीं होती ईद-उल-फितर?

होली, दीवाली की तरह ही हर साल ईद-उल-फितर को मनाने की तारीख भी बदलती रहती है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि ईद की तारीख हर साल हिजरी कैलेंडर के आधार पर बदलती है। यह एक लूनर कैलेंडर है और यह चंद्रमा के विभिन्न चरणों पर भी निर्भर करता है। मुसलमानों के लिए एक नया महीना अर्धचंद्र के दिखने के बाद ही शुरू होता है और यह हर साल चंद्रमा की स्थिति के आधार पर बदल सकता है।

ईद उल-फितर 2022 कैसे मनाएं

एक महीने के उपवास के बाद, ईद अल-फितर रमजान के अंत का प्रतीक है। रमजान महीने भर के उपवास व अल्लाह ही इबादत के दौरान शक्ति और धीरज के लिए अपने प्रभु-अल्लाह का सम्मान करने के लिए इसे मनाया जाता है। ईद-उल-फितर का त्योहार दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा मनाया जाता है। इस दौरान मुसलमान नमाज़ में हिस्सा लेते हैं। इस दिन को मनाने के लिए मुसलमान नए कपड़े पहनते हैं और एक-दूसरे को ’ईद मुबारक’ की शुभकामनाएं देते हैं। वहीं, बड़ों द्वारा छोटों को ’ईदी’ के रूप में उपहार भी दिया जाता है।

मिताली जैन