दिव्या दत्ता मानती थीं कि ‘वीर जारा’ में शब्बो की भूमिका निभाना गलत होगा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2018   17:51
दिव्या दत्ता मानती थीं कि ‘वीर जारा’ में शब्बो की भूमिका निभाना गलत होगा

अभिनेता शाहरूख खान और अभिनेत्री प्रीति जिंटा की फिल्म ‘वीर जारा’ में शब्बो का किरदार निभाकर आलोचकों की सराहना बटोरने वाली अभिनेत्री दिव्या दत्ता शुरूआत में यह किरदार निभाने के लिए हिचकिचा रही थीं।

पणजी। अभिनेता शाहरूख खान और अभिनेत्री प्रीति जिंटा की फिल्म ‘वीर जारा’ में शब्बो का किरदार निभाकर आलोचकों की सराहना बटोरने वाली अभिनेत्री दिव्या दत्ता शुरूआत में यह किरदार निभाने के लिए हिचकिचा रही थीं। यहां भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव (आईएफएफआई) 2018 में ‘री.डिफाइनिंग स्टोरीज’ पैनल चर्चा के दौरान अभिनेत्री ने खुलासा किया कि यश चोपड़ा निर्देशित फिल्म का प्रस्ताव उनके पास तब आया जब वह कुछ सफल फिल्मों के जरिये अपनी पहचान बना चुकी थीं। हाल ही में ‘इरादा’ फिल्म में सहायक भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय पुरस्कार पाने वाली दिव्या दत्ता ने कहा ‘‘मैं पेड़ों के इर्द-गिर्द घूमते और नाचते हुए खुश नहीं थी क्योंकि मैं कुछ और करना चाहती थी।

मेरी मां ने मुझे कई बार समझाया और कहा कि मैं फिल्मों के प्रस्ताव ठुकराने के बजाय, काम करूं और ऐसे रोल चुनूं जो मुख्य भले ही न हों लेकिन दमदार जरूर हों।’’ अभिनेत्री ने बताया कि जब उनके पास ‘वीर जारा’ में सहायक भूमिका निभाने का प्रस्ताव आया तो उन्होंने उसे गंभीर नहीं समझा। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यश चोपड़ा की एक फिल्म में दोस्त की भूमिका निभाना हल्का सा लगा। लेकिन आदित्य ने मुझसे कहा ‘तुम्हें शब्बो की भूमिका निभाने का कभी अफसोस नहीं होगा।’ और ... यही हुआ।’’ दिव्या ने कहा कि दर्शकों को जब उनकी प्रतिभा के बारे में पता चला तब उनके लिए चीजें बदलनी शुरू हो गयीं। उन्होंने कहा कि आलोचकों द्वारा सराही गई फिल्म ‘‘ट्रेन टू पाकिस्तान’’ से पहले तो उन्होंने अभिनय से किनारा करने के बारे में सोचना शुरू कर दिया था। इस पैनल चर्चा में दिव्या दत्ता के साथ राहुल बोस, पंकज त्रिपाठी, राजश्री देशपांडे और फिल्म निर्माता नील माधब पांडा ने भी हिस्सा लिया। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।