• अक्षय कुमार की मां के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने भेजा शोक संदेश

अभिनेता अक्षय कुमार ने रविवार को कहा कि उन्हें अपनी मां अरुणा भाटिया के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लिखा हुआ पत्र मिला और यह उनके दिल को छू गया। अक्षय कुमार की मां का मुंबई के एक अस्पताल में आठ सितंबर को निधन हो गया।

मुंबई। अभिनेता अक्षय कुमार ने रविवार को कहा कि उन्हें अपनी मां अरुणा भाटिया के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लिखा हुआ पत्र मिला और यह उनके दिल को छू गया। अक्षय कुमार की मां का मुंबई के एक अस्पताल में आठ सितंबर को निधन हो गया। अभिनेता (53) ने ट्वीट किया, ‘‘मेरे और मेरे माता-पिता के प्रति अपनी भावनाएं व्यक्त करने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा समय निकाले जाने को लेकर बहुत कृतज्ञ हूं। ढाढस बंधाने वाले उनके शब्द हमेशा मेरे साथ रहेंगे। जय अंबे।’’

इसे भी पढ़ें: किताब की अलोचना कर रहे लोगों को प्रियंका चोपड़ा का जवाब, कहा- किताब से कोई नाम नहीं हटाउंगी

प्रधानमंत्री मोदी ने 11 सितंबर को लिखे पत्र में अभिनेता की मां के निधन पर शोक जताया और उस दिन सुबह अक्षय कुमार के साथ हुई बातचीत को याद किया। प्रधानमंत्री ने लिखा है, ‘‘आप बहुत दुखी थे और आपने बेहद भावनात्मक रूप से इसे व्यक्त किया जब आपने लिखा कि वह आपकी जिंदगी हैं। और आज मुझे दिल की गहरायी तक आपकी अथाह पीड़ा महसूस हो रही है।’’ पत्र में यह भी लिखा हुआ है कि कैसे कड़ी मेहनत और संघर्ष के बाद अक्षय कुमार ने सफलता हासिल की और इसमें उनकी मां ने पूरा-पूरा साथ दिया।

इसे भी पढ़ें: मानसिक रूप से कमजोर किशोरी के साथ 50 साल के अधेड़ आदमी ने की दरिंदगी

प्रधानमंत्री ने चिट्ठी में लिखा है, ‘‘अपनी इस यात्रा में आपने सही और नैतिक मूल्यों को बनाए रखा और इसी कारण आप मुश्किलों को भी आसानी से अवसर में बदल सके। और यह संस्कार आपको आपके माता-पिता से मिले हैं। आपने जब अपना करियर शुरू किया, मुझे विश्वास है कि इस राह में आपको तमाम तरह के लोग मिले होंगे।’’ उन्होंने लिखा है, ‘‘लेकिन आपकी मां, आपके साथ चट्टान की तरह खड़ी रहीं। सफलता की चोटी हो या असफलता का गर्त, वह हमेशा आपके साथ रहीं। उन्होंने सुनिश्चित किया कि आप हमेशा दयालु और विनम्र बने रहें।

उन्होंने आपको लोगों की मदद करने का संस्कार भी दिया जो आपके परमार्थ कार्यों में नजर आता है।’’ पत्र में प्रधानमंत्री ने यह भी लिखा है कि उन्हें खुशी है कि अरुणा भाटिया अपने बेटे को सफलता की चोटी पर पहुंचते हुए देख सकीं और अभिनेता ने जिस तरह से उनकी देखभाल की, वह बहुत प्रेरणादायी है। चिट्ठी में लिखा है, ‘‘दुनिया से जाते हुए उन्हें पता था कि उनका बेटा भारत के पसंदीदा अभिनेताओं में से एक है। दुख की इस घड़ी में शब्द कम पड़ जाते हैं। उनकी यादों और विरासत को बनाए रखें और उन्हें हमेशा आप पर गर्व करने का मौका दें। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं आपके और आपके परिवार के साथ हैं। ओम शांति।