गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 100 रुपये क्विंटल की वृद्धि कर सकती है सरकार

Government can increase the minimum support price of wheat by 100 rupees a quintal
सरकार चालू वित्तवर्ष के लिए गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य :एमएसपी: को 100 रुपये बढ़ाकर 1,725 रुपये प्रति क्विन्टल कर सकती है।

नयी दिल्ली| सरकार चालू वित्तवर्ष के लिए गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य(एमएसपी) को 100 रुपये बढ़ाकर 1,725 रुपये प्रति क्विन्टल कर सकती है। सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी।

इस संबंध में फैसला होने वाली आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) के द्वारा लिए जाने की संभावना है।

एमएसपी वह दर है जिस दर पर सरकार किसानों से उनकी उपज की खरीद करती है। मौजूदा समय में गेहूं का एमएसपी 1,625 रुपये प्रति क्विन्टल है।

सूत्रों ने बताया, ‘‘वर्ष 2018-19 के लिए गेहूं सहित रबी फसलों का एमएसपी होने वाली सीसीईए की बैठक के एजेंडे में शामिल है। वर्ष 2018-9 के लिए गेहूं के एमएसपी को 100 रुपये प्रति क्विन्टल बढ़ाने का प्रस्ताव है।’’ गेहूं प्रमुख रबी फसल है जिसकी बुवाई इसी महीने से शुरू होती है। इस फसल का विपणन अगले वर्ष अप्रैल के बाद से शुरू होगा।

मंत्रिमंडलीय परिपत्र में कृषि मंत्रालय ने कृषि लागत एवं मूल्य आयोग की सिफारिशों के आधार पर सात रबी फसलों.. गेहूं, जौ, चना, मसूर, रेपसीड, सरसों और सूरजमुखी के लिए एमएसपी का प्रस्ताव किया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़