गुजरात सरकार ने सेमीकंडक्टर नीति की घोषणा की, निवेश पर प्रोत्साहन देगी

Semiconductors
Creative Common Licences.
वघानी ने कहा, ‘‘इस नीति को केंद्र के भारत सेमीकंडक्टर मिशन के अनुसार तैयार किया गया है। हमें उम्मीद है कि हमारी नीति से राज्य में अगले पांच वर्षों के दौरान सेमीकंडक्टर क्षेत्र में दो लाख नई नौकरियां पैदा होंगी।’’

अहमदाबाद| गुजरात सरकार ने बुधवार को अपनी सेमीकंडक्टर नीति की घोषणा की, जिसका मकसद इस क्षेत्र में नए निवेश को आकर्षित करना है। नई नीति के तहत राज्य सरकार प्रोत्साहन एवं सब्सिडी की पेशकश कर रही है।

गुजरात के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री जीतू वघानी ने बयान में कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने ‘गुजरात सेमीकंडक्टर नीति’ का अनावरण किया, जो 2027 तक लागू रहेगी। बयान के मुताबिक, इस नीति के तहत राज्य सरकार अहमदाबाद के पास ‘धोलेरा सेमीकॉन सिटी’ स्थापित करेगी। यहां पात्र परियोजनाओं को विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने के लिए सब्सिडी दी जाएगी।

मंत्री ने दावा किया कि गुजरात अब सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले उत्पादन क्षेत्र के लिए एक समर्पित नीति बनाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। वघानी ने कहा, ‘‘इस नीति को केंद्र के भारत सेमीकंडक्टर मिशन के अनुसार तैयार किया गया है। हमें उम्मीद है कि हमारी नीति से राज्य में अगले पांच वर्षों के दौरान सेमीकंडक्टर क्षेत्र में दो लाख नई नौकरियां पैदा होंगी।’’

नीति के तहत राज्य सरकार अहमदाबाद के पास धोलेरा विशेष निवेश क्षेत्र में ‘धोलेरा सेमीकॉन सिटी’ की स्थापना करेगी। पात्र परियोजनाओं को विनिर्माण इकाइयों की स्थापना के लिए 200 एकड़ भूमि की खरीद पर 75 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी।

इसके अलावा उन्हें रियायती दरों पर बिजली-पानी उपलब्ध कराने संबंधी प्रोत्साहन भी दिए जाएंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़