हुरुन की एक रिपोर्ट का दावा, भारत स्टार्टअप इकोसिस्टम में दुनिया में तीसरे नंबर पर पहुंचा

हुरुन की एक रिपोर्ट का दावा, भारत स्टार्टअप इकोसिस्टम में दुनिया में तीसरे नंबर पर पहुंचा

हुरुन इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक,स्टार्टअप इकोसिस्टम में दुनिया में भारत तीसरे नंबर पर पहुंच गया है।हुरुन रिपोर्ट ने एक लिस्ट जारी की है जिसमें देश में 32 ऐसे स्टार्टअप है जिनका पूंजीकरण 50 करोड़ के पार हो गया है।

भारत, अमेरिका और चीन के बाद दुनिया में तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप इकोसिस्टम के रूप में उभरा है।TOI में छपी एक खबर के मुताबिक, एक साल के भीतर भारत हर तीन महीने में यूनिकॉर्न से जुड़ा हैं। इनकी कुल संख्या 51 है। भारत के अलावा इस लिस्ट में लंदन और जर्मनी भी आगे है। आपको बता दें कि भारत में यूनीकॉर्न स्टार्टअप की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है। हुरुन इंडिया ने एक रिपोर्ट जारी कर दावा किया है कि, साल 2021 में भारत ने हर तीन महीने में स्टार्टअप को यूनीकॉर्न बनाया है। रिपोर्ट के मुताबिक,स्टार्टअप इकोसिस्टम में दुनिया में भारत तीसरे नंबर पर पहुंच गया है।

इसे भी पढ़ें: मामूली बढ़त पर खुला बाजार, सेंसेक्स 58,000 के पार, निफ्टी में भी उछाल

कई कंपनियों के देश छोड़ देने के बावजुद भारत में 1 अरब डॉलर से ज्यादा  यूनीकॉर्न स्टार्टअप की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। हुरुन रिपोर्ट ने एक लिस्ट जारी की है जिसमें देश में 32 ऐसे स्टार्टअप है जिनका पूंजीकरण 50 करोड़ के पार हो गया है। आने वाले दो सालों में यह स्टार्टअप भी यूनीकॉर्न की लिस्ट में आ जाएगी। वहीं 54 ऐसे और स्टार्टअप हैं जो 20 करोड़ डॉलर की बाजार पूंजी के साथ काम कर रहे है और दावा है कि यह भी आने वाले समय में यूनिकॉर्न बन जाएंगे।हुरुन इंडिया के प्रबंध निदेशक अनस रहमान जुनैद के अनुसार, भारत में तकनीक का इस्तेमाल तेजी से हो रहा है और साल 2025 तक यूनीकॉर्न की संख्या बढ़कर 150 से ऊपर जाने की संभावना है। बता दें कि बड़े स्टार्टअप में बंगलूरू 31 स्टार्टअप के साथ बना हुआ है वहीं दिल्ली-एनसीआर 18 स्टार्टअप दूसरे स्थान पर बना हुआ है।