भारत के लिए तीन दशकों तक 8-9 प्रतिशत की वृद्धि दर बरकरार रखना चुनौती: नीति आयोग

Niti Aayog
ANI Twitter.
कांत के अनुसार, सार्वजनिक नीति में सरकार की भूमिका होनी चाहिए और नीति को निजी क्षेत्र के जरिये संपत्ति का सृजन करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार को शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण के क्षेत्र में काम करना चाहिए।’’

नयी दिल्ली, 17 मई भारत ने टीकाकरण के मोर्चे पर बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है और देश के लिए अगले तीन दशकों तक 8-9 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करना एक चुनौती है। नीति आयोग के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने मंगलवार को यह बात कही। कांत ने पब्लिक अफेयर्स फोरम ऑफ इंडिया (पीएएफआई) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि देश में गरीबी को दूर करने के लिए भारत की प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने कोविड-19 के बाद अच्छा प्रदर्शन किया, और टीकाकरण पर बहुत अच्छा काम किया, अगले साल भी हम बढ़ेंगे। (भारत के लिए) अगले तीन दशकों तक 8-9 प्रतिशत की उच्चवृद्धि दर को बनाए रखने की चुनौती है।’’

कांत के अनुसार, सार्वजनिक नीति में सरकार की भूमिका होनी चाहिए और नीति को निजी क्षेत्र के जरिये संपत्ति का सृजन करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार को शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण के क्षेत्र में काम करना चाहिए।’’

कांत के अनुसार, भारतीय विनिर्माताओं के लिए वैश्विक बाजारों और मूल्य श्रृंखलाओं में प्रवेश करना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि तकनीकी छलांग के बिना भारत के लिए ऊंची वृद्धि दर को बरकरार रखना मुश्किल होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़