टेस्ला की भारत में एंट्री पर मस्क ने तोड़ी चुप्पी, कहा- जहां कार बेचने की इजाजत नहीं, वहां प्लांट भी नहीं

Musk
Creative Common
अभिनय आकाश । May 28, 2022 1:01PM
एलन मस्क ने ट्विटर पोस्ट के जरिये साफ कर दिया कि इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला इंक भारत में तब तक निर्माण नहीं करेगी जब तक कि उसे देश में अपनी कारों को बेचने और सेवा देने की अनुमति नहीं दी जाती।

टेस्ला की कार भारत में क्यों नहीं बिकती इसे लेकर आपने कई सारी दलीलें और कारण जरूर सुने होंगे। फिर भी हम भारतीय इस कार का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। आए दिन लोग टेस्ला के सीईओ एलन मस्क से कार लॉन्चिंग को लेकर सवाल करते हैं। एलन मस्क भी अक्सर इस देरी के लिए भारत सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराते हैं। ट्विटर पर एक व्यक्ति ने मस्क के साथ-साथ टेस्ला की भारत में प्लांट लगाने की योजना पर सवाल उठाया। जवाब में एलन मस्क ने ट्विटर पोस्ट के जरिये साफ कर दिया कि इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला इंक भारत में तब तक निर्माण नहीं करेगी जब तक कि उसे देश में अपनी कारों को बेचने और सेवा देने की अनुमति नहीं दी जाती। 

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी ने बताया भारत के लिए क्यों खास है Cannes 2022, बोले- फिल्में और समाज एक दूसरे के मिरर इमेज

मस्क ने ट्वीट करते हुए कहा कि टेस्ला ऐसी किसी भी जगह पर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं लगाएगी, जहां हमें पहले कारों को बेचने और सर्विस करने की इजाजत नहीं है। एलन मस्क की इन टिप्पणियों से पता चलता है कि भारत और टेल्सा के बीच देश में विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने पर गतिरोध जारी है। इससे पहले केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कड़ा और दो टूक बयान दिया है। उन्होंने कहा कि टेस्ला का भारत में स्वागत है लेकिन कंपनी की चीन में गाड़ियां बनाकर भारत में बेचने की अवधारणा पचने वाली नहीं है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि अमेरिकी कंपनी टेस्ला चीन में बनी अपनी कारें भारत में न बेचे बल्कि यही प्रोडक्शन शुरू करे।  

इसे भी पढ़ें: रोजगार के अवसरों को बढ़ाने पर सरकार को और ध्यान देना होगा

बता दें कि देश में टेस्ला का प्रवेश 2019 से रुका हुआ है क्योंकि भारत 40,000 डॉलर या उससे कम कीमत वाले ईवीएस पर 60% आयात शुल्क लगाता है। 40,000 डॉलर से अधिक कीमत वाले इलेक्ट्रिक वाहनों पर आयात शुल्क 100% है। मॉडल एस और रोडस्टर के यूएस-आधारित निर्माता ने मार्च 2021 में अपने पहले कर्मचारी, मनुज खुराना को सार्वजनिक नीति के प्रमुख के रूप में नियुक्त किया। 

अन्य न्यूज़