अब गौतमबुद्ध नगर के निवासी घर बैठे ही करा सकेंगे इन 8 बिजली से जुड़ी समस्याओं का समाधान

Electricity meter
आपको बता दें गौतमबुद्ध नगर में इस वक़्त लगभग तीन लाख से ज्यादा बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से सैकड़ों बिजली उपभोक्ता अपनी कई अलग-अलग समस्याओं को लेकर बिजली दफ्तर के चक्कर लगाते रहते हैं, फिर भी उपभोक्ताओं की समस्या का सही समय पर समाधान नहीं हो पाता।

गौतमबुद्ध नगर के निवासियों की बिजली की समस्याओं का समाधान घर बैठे ही हो जाएगा। बिजली विभाग द्वारा इसके लिए खास तैयारी की गई है। लोगों की मुख्य 8 समस्याएं अब घर बैठे ही हल हो जाएंगी। मुख्य अभियंता विद्युत निगम वीएन सिंह ने जानकारी दी है कि लोगों की समस्याओं का समाधान उत्तर प्रदेश कॉरपोरेशन लिमिटेड वेबसाइट के माध्यम से करवाएगी।

आपको बता दें गौतमबुद्ध नगर में इस वक़्त लगभग तीन लाख से ज्यादा बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से सैकड़ों बिजली उपभोक्ता अपनी कई अलग-अलग समस्याओं को लेकर बिजली दफ्तर के चक्कर लगाते रहते हैं, फिर भी उपभोक्ताओं की समस्या का सही समय पर समाधान नहीं हो पाता। उपभोक्ताओं की यह परेशानी पिछले कुछ वक़्त से बहुत ज्यादा बढ़ गई है। इसे देखते हुए उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड ने एक नई शुरुआत की है। अब गौतमबुद्ध नगर में रहने वाले लोग अपनी इन आठ बीजली समस्याओं का समाधान घर बैठे ही करवा सकते हैं।

होगा इन आठ समस्याओं का समाधान

उपभोक्ता का नाम और पता सही करना।

उसका बिल सही करना।

उसका मोबाइल नंबर  व ई-मेल ठीक करना।

लोड बदलवाना

स्थाई रूप से उपभोक्ता का कनेक्शन बंद करना।

कनेक्शन की कैटेगरी बदलावना।

कनेक्शन का मालिकाना हक बदलना।

उपभोक्ता की मीटर संबंधी शिकायत को दूर करना।

इस वेबसाइट पर होगा समाधान

मुख्य अभियंता अधिकारी वीएन सिंह ने बताया कि, किसी भी उपभोक्ता को अपनी समस्याओं का समाधान करवाने के लिए यूपीपीसीएल की वेबसाइट upendra. in पर जाना होगा। इसके बाद कोई भी उपभोक्ता अपने किसी भी समस्या को लेकर नया पेज खुल सकता है।

यह है पूरी प्रक्रिया

मुख्य अभियंता अधिकारी ने बताया कि इसमें अर्बन ओर रूरल सर्विस रिक्वेस्ट पर जाना होगा। यहां पर अर्बन क्षेत्र के उपभोक्ता को अर्बन ओर रूरल क्षेत्र के उपभोक्ता को रूरल के विकल्प का चुनाव करना होगा। इसके बाद name of service नाम से एक नया पेज खुल जाएगा। इसके बाद उपभोक्ता को अपनी समस्या के मुताबिक संबंधित विकल्पों का चुनाव करना होगा, और शिकायत दर्ज करनी होगी। उपभोक्ता द्वारा जो भी शिकायत दर्ज की जाएगी वो शिकायत जेई और एसडीओ के पास पहुंच जाएगी। अधिकारियों को उपभोक्ता की शिकायत का एक हफ्ते भीतर समाधान करना होगा।

अन्य न्यूज़