पाकिस्तान को जल्द मिल सकता है, तेल, गैस का बड़ा भंडार- इमरान खान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 22, 2019   18:04
पाकिस्तान को जल्द मिल सकता है, तेल, गैस का बड़ा भंडार- इमरान खान

प्रधानमंत्री ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘...हम सभी यह प्रार्थना करते हैं कि पाकिस्तान को प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक संसाधन मिले। हमारी उम्मीदें अपतटीय क्षेत्र में खुदाई से है जो एक्सोन मोबिल की अगुवाई वाला समूह कर रहा है...।’’

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि देश अरब सागर में बड़े पैमाने पर तेल एवं गैस भंडार खोज के करीब है और अगर ऐसा होता है तो यह ‘जैकपॉट’ होगा। उन्होंने उम्मीद जतायी कि इस खोज से नकदी संकट से जूझ रहे देश की आर्थिक समस्याओं का समाधान होगा। उन्होंने कहा कि तेल के लिये अपतटीय क्षेत्र में खुदाई अंतिम चरण में हैं और यह बड़ी खोज हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में ''जिहादी संगठनों और जिहादी संस्कृति'' के लिए कोई जगह नहीं- इमरान 

प्रधानमंत्री ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘...हम सभी यह प्रार्थना करते हैं कि पाकिस्तान को प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक संसाधन मिले। हमारी उम्मीदें अपतटीय क्षेत्र में खुदाई से है जो एक्सोन मोबिल की अगुवाई वाला समूह कर रहा है...।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले ही तीन सप्ताह की देरी हो चुकी है लेकिन जो हमें संकेत मिल रहे हैं...इसकी मजबूत संभावना है कि हम अपने जल क्षेत्र में बड़ा भंडार खोजे। और अगर यह होता है पाकिस्तान एक अलग लीग में होगा।’’

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की आय तीन साल में तीन करोड़ रुपये घटी

कुछ अखबारों के संपादकों तथा वरिष्ठ पत्रकारों के साथ एक अनौपचारिक बातचीत में खान ने हालांकि अपतटीय क्षेत्र में खुदाई प्रक्रिया का ब्योरा साझा नहीं किया। एक्सोन मोबिल तथा अंतरराष्ट्रीय तेल उत्खनन कंपनी ईएनआई से भी इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। ये कंपनियां जनवरी से समुद्र के काफी गहराई (समुद्र के भीतर 230 किलोमीटर नीचे) वाले क्षेत्र में खुदाई कर रही हैं। इस क्षेत्र को केकरा-1 क्षेत्र के नाम से जाना जाता है।

इटली की ईएनआई तथा अमेरिकी तेल कंपनी एक्सोन मोबिल संयुक्त रूप से पाकिस्तान के अरब सागर क्षेत्र में गैस के लिये खुदाई कर रही है।  आतंकवाद के कारण पश्चिमी देशों की कई अन्य कंपनियां पाकिस्तान छोड़कर चली गयी थी। एक्सोन मोबिल करीब एक दशक बाद पाकिस्तान लौटी है। पिछले साल एक सर्वे में पाकिस्तानी जल क्षेत्र में बड़े पैमाने पर तेल भंडार होने के संकेत मिलने के बाद कंपनी यहां लौटी है।

प्रधानमंत्री को भरोसा है कि अगर तेल भंडार खोजा जाता है, पाकिस्तान की कई आर्थिक समस्याएं दूर होंगी और उसके बाद देश की तरक्की को कोई नहीं रोक सकता। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आर्थिक स्थिरता कायम करना सबसे बड़ी चुनौती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।