पाकिस्तान ने पेरिस क्लब से कर्ज भुगतान की अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया

Paris Group
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
नकदी संकट के बीच भीषण बाढ़ की चपेट में आए पाकिस्तान ने समृद्ध देशों के समूह ‘पेरिस क्लब’ से दस अरब डॉलर के कर्ज की भुगतान अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया है। पाकिस्तान इन दिनों भीषण बाढ़ के बाद 3.3 करोड़ से अधिक लोगों के पुनर्वास की चुनौती से जूझ रहा है।

नकदी संकट के बीच भीषण बाढ़ की चपेट में आए पाकिस्तान ने समृद्ध देशों के समूह ‘पेरिस क्लब’ से दस अरब डॉलर के कर्ज की भुगतान अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया है। पाकिस्तान इन दिनों भीषण बाढ़ के बाद 3.3 करोड़ से अधिक लोगों के पुनर्वास की चुनौती से जूझ रहा है। ऐसी स्थिति में उसने कर्ज के मोर्चे पर कुछ राहत की उम्मीद लगाई हुई है। पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘पाकिस्तान में जलवायु परिवर्तन की वजह से आई आपदा की वजह से हम द्विपक्षीय पेरिस क्लब लेनदारों से कर्ज राहत का अनुरोध करते हैं।

हालांकि हम वाणिज्यिक बैंकों या यूरो में लेनदेन करने वाले कर्जदाताओं से किसी तरह की राहत नहीं मांग रहे और न ही हमें इसकी जरूरत है।’’ बीते 20 वर्षों में यह तीसरी बार होगा जब 17 सदस्यीय पेरिस क्लब पाकिस्तान के कर्ज की भुगतान अवधि में बदलाव करेगा। इससे पहले, जब पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका के साथ सहयोगी बना था तब पेरिस क्लब ने कर्ज चुकता करने की अवधि 15 वर्ष के लिए बढ़ा दी थी। फिर, कोविड-19 के बाद इस अवधि को तीन से चार वर्ष के लिए बढ़ाया गया।

न्यूयॉर्क में मौजूद इस्लाइल ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘हम पेरिस क्लब के कर्ज भुगतान को कुछ वर्ष के लिए टालने का अनुरोध करेंगे।’’ द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने इस्माइल के हवाले से बताया कि प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष से भी तीन अरब डॉलर के बाकी कर्ज की अग्रिम राशि इस वर्ष नवंबर तक देने का अनुरोध किया है। इस वर्ष पाकिस्तान को 10 अरब डॉलर के कुल कर्ज में से पेरिस क्लब को 1.1 अरब डॉलर का भुगतान करना है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़