स्टार्टअप को प्रोत्साहन के लिए शुरू हुआ ‘रियल्टी शो’

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 7, 2021   08:58
स्टार्टअप को प्रोत्साहन के लिए शुरू हुआ ‘रियल्टी शो’
प्रतिरूप फोटो

विज्ञप्ति के अनुसार, यह ‘शो’ देश में अपनी तरह का पहला कार्यक्रम है जहां स्टार्टअप और एसएमई (लघु एवं मझोले उद्यम) पूंजी प्राप्त करने के लिए अपनी सोच और विचार को रख सकते हैं। इसका उद्देश्य स्टार्टअप को अलग विचारों के साथ कोष प्राप्त करने के लिये आगे आने को प्रोत्साहित करना है।

नयी दिल्ली|  नीति आयोग के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने सोमवार को स्टार्टअप के वित्तपोषण के के लिए एक ‘रियल्टी शो’ की शुरुआत की।

इस पहल का मकसद स्टार्टअप को अलग विचारों को लेकर आगे आने और कोष प्राप्त करने के लिये प्रोत्साहित करना है। कार्यक्रम ‘हॉर्सेस स्टैबल-जो जीता वही सिकंदर’ एचपीपीएल संस्थापक प्रशांत अग्रवाल और अभिनेता सुनील शेट्टी का संयुक्त प्रयास है। इस पहल को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) के तहत एमएसएच (एमईआईटीवाई स्टार्टअप हब) का भी समर्थन प्राप्त है।

विज्ञप्ति के अनुसार, यह ‘शो’ देश में अपनी तरह का पहला कार्यक्रम है जहां स्टार्टअप और एसएमई (लघु एवं मझोले उद्यम) पूंजी प्राप्त करने के लिए अपनी सोच और विचार को रख सकते हैं। इसका उद्देश्य स्टार्टअप को अलग विचारों के साथ कोष प्राप्त करने के लिये आगे आने को प्रोत्साहित करना है।

कांत ने कहा कि उन्हें यह देखकर खुशी हुई कि उद्योग के विशेषज्ञ स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने के लिए आगे आ रहे हैं। इस प्रयास से नए स्टार्टअप को आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमने 10 महीनों में 44 यूनिकॉर्न (एक अरब डॉलर के मूल्यांकन वाले स्टार्टअप) बनाए हैं। समावेश आज की स्टार्टअप पीढ़ी की कुंजी है।’’

यह कार्यक्रम भारतीय उद्यमियों के लिए डिजाइन किया गया एक रियलिटी शो है। इसे कांत ने अटल इनोवेशन मिशन के मिशन निदेशक चिंतन वैष्णव, सुनील शेट्टी, एफटीसी टैलेंट एंड एंटरटेनमेंट और प्रशांत अग्रवाल के साथ पेश किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।