धार्मिक स्थलों पर जाने के इच्छुक लोगों की संख्या 35 से 40 प्रतिशत बढ़ी : सर्वे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 13, 2022   09:48
धार्मिक स्थलों पर जाने के इच्छुक लोगों की संख्या 35 से 40 प्रतिशत बढ़ी : सर्वे
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons.

आईआरसीटीसी द्वारा धार्मिक स्थलों के लिए शुरू की गई एक्सप्रेस ट्रेनों मसलन रामायण यात्रा ट्रेन टूर्स, बौद्ध सर्किट ट्रेन, ज्योतिर्लिंग दर्शन यात्रा और दिल्ली से कटरा तक के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस के कारण इस प्रवृत्ति को और बढ़ावा मिला है।

नयी दिल्ली| धार्मिक स्थलों की यात्रा पर जाने के इच्छुक लोगों की संख्या इस साल 35-40 प्रतिशत बढ़ी है। यात्रा सुविधाएं उपलब्ध कराने वाली कंपनियों के अध्ययन से यह बात सामने आई है। ऑनलाइन यात्रा ऐप इक्सिगो ने अपने ऐप और वेबसाइट पर पूछे गए प्रश्नों के आधार पर माह-दर-माह रुझानों की तुलना करने पर पाया कि मार्च, 2022 तक धार्मिक स्थलों के लिए ‘सर्च’ में इजाफा हुआ है।

मार्च तक कटरा को लेकर सर्च में सबसे अधिक 83 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली। तिरुपति (73 प्रतिशत), हरिद्वार (36 प्रतिशत), ऋषिकेश (38 प्रतिशत), रामेश्वरम (34 प्रतिशत) के लिए भी सर्च में बढ़ोतरी हुई।आगरा के लिए सर्च में 29 प्रतिशत, प्रयागराज के लिए 22 प्रतिशत और वाराणसी के लिए 14 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई।

आईआरसीटीसी द्वारा धार्मिक स्थलों के लिए शुरू की गई एक्सप्रेस ट्रेनों मसलन रामायण यात्रा ट्रेन टूर्स, बौद्ध सर्किट ट्रेन, ज्योतिर्लिंग दर्शन यात्रा और दिल्ली से कटरा तक के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस के कारण इस प्रवृत्ति को और बढ़ावा मिला है।

वाजपेयी ने कहा, ‘‘ऋषिकेश, रामेश्वरम और हरिद्वार जैसे लोकप्रिय तीर्थ स्थलों के लिए सर्च में माह-दर-माह आधार पर औसतन 35 से 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। बूस्टर खुराक के प्रभावी परिणामों से विशेष रूप से वरिष्ठ नागरिकों के बीच यात्रा पर जाने का भरोसा बढ़ा है।’’

इसके अलावा, ट्रेन टिकट बुकिंग मंच कन्फर्मटीकेटी के एक अध्ययन में पाया गया है कि फरवरी, 2021 की तुलना में इस साल अप्रैल में धार्मिक स्थलों के लिए ट्रेनों के बारे में जानकारी पाने को पूछताछ में 35 से 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।