सेबी प्रमुख ने कहा कि बढ़ता डिजिटलीकरण, तकनीक के इस्तेमाल से भविष्य में थर्ड पार्टी वेरिफिकेशन

Sebi
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
सेबी प्रमुख ने कहा कि हमारा जोर किसी तीसरे पक्ष से सत्यापन पर है। यह बाजार में प्रस्तुत चीजों की वास्तविक तथा निष्पक्ष तस्वीर को सामने लाने की प्रतिबद्धता से प्रेरित है।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) की चेयरपर्सन माधबी पुरी बुच ने बुधवार को कहा कि प्रौद्योगिकी के कारण जिस स्तर पर डिजिटलीकरण हो रहा है, उसमें ‘तृतीय पक्ष सत्यापन’ ही भविष्य है। उन्होंने ऑडिट और अकाउंट विभाग के ‘ऑडिट’ सप्ताह में कहा कि सरकार के हर विभाग, आंकड़ों की पहुंच समेत हर जगह डिजिटलीकरण तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में तीसरे पक्ष से सत्यापन भविष्य है क्योंकि यह प्रौद्योगिकी के माध्यम से होगा।

सेबी प्रमुख ने कहा कि हमारा जोर किसी तीसरे पक्ष से सत्यापन पर है। यह बाजार में प्रस्तुत चीजों की वास्तविक तथा निष्पक्ष तस्वीर को सामने लाने की प्रतिबद्धता से प्रेरित है। उन्होंने कहा कि देश में ऐसी 20 वेबसाइट हैं जिसके जरिये ऑडिटर तीसरे पक्ष से सत्यापन के माध्यम से उन इकाइयों के दावों का सत्यापन कर सकते हैं, जिनका ऑडिट किया जा रहा है। माधबी पुरी बुच ने कहा, ‘‘धोखाधड़ी करने वाले भी प्रौद्योगिकी का उपयोग कर रहे हैं, हम उसका उपयोग गड़बड़ी से बचाव के लिये कर सकते हैं। ऑडिटर तीसरे पक्ष से सत्यापन के लिये जीएसटीएन पोर्टल, बैंक वेबसाइट और अन्य का उपयोग कर सकते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़