शेयर बाजार में तेजी लौटी, सेंसेक्स 1,277 अंक उछला, बैंक, धातु शेयर चमके

Sensex
ANI
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि वॉल स्ट्रीट (अमेरिकी शेयर बाजार) में सोमवार की तेजी तथा बैंकों के उत्साहजनक कारोबारी आंकड़े से बाजार में उत्साह रहा।

मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में मंगलवार को तेजी लौटी और बीएसई सेंसेक्स में 1,277 अंक की बढ़त रही। वैश्विक शेयर बाजारों में सकारात्मक रुख के बीच बैंक, धातु और आईटी शेयरों में लिवाली से घरेलू बाजार में तेजी रही। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 1,276.66 अंक यानी 2.25 प्रतिशत उछलकर 58,065.47 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 1,311.13 अंक तक चढ़ गया था। सेंसेक्स के तीस शेयरों में से 27 लाभ में रहे। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 386.95 अंक यानी 2.29 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,274.30 अंक पर बंद हुआ। धातु, बैंक और आईटी शेयरों की अगुवाई में लिवाली चौतरफा रही। इससे शेयर बाजार में जोरदार तेजी आई। 

इसे भी पढ़ें: कमजोर वैश्विक रुख से सेंसेक्स 638 अंक टूटा, निफ्टी 17,000 अंक से नीचे फिसला

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि वॉल स्ट्रीट (अमेरिकी शेयर बाजार) में सोमवार की तेजी तथा बैंकों के उत्साहजनक कारोबारी आंकड़े से बाजार में उत्साह रहा। अमेरिका में पीएमआई विनिर्माण में नरमी से यह संभावना बनी है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व ब्याज दर बढ़ाने के मामले में थोड़ा नरम रुख अपना सकता है।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिकी डॉलर के अनुरूप अमेरिकी बॉन्ड प्रतिफल नीचे आया है। सेंसेक्स के तीस शेयरों में इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, बजाज फिनसर्व, एचडीएफसी, टाटा स्टील, लार्सन एंड टुब्रो, विप्रो, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक प्रमुख रूप से लाभ में रहे। दूसरी तरफ पावरग्रिड, सन फार्मा और डॉ. रेड्डीज में गिरावट रही। सेंसेक्स में सोमवार को 638.11 अंक की गिरावट आई थी, जबकि निफ्टी 207 अंक टूटा था। एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा कि सकारात्मक वैश्विक रुख तथा कर्ज देने और उसकी अदायगी को लेकर दूसरी तिमाही के आंकड़े उत्साहजनक रहने से दोनों मानक सूचकांक दो प्रतिशत से अधिक मजबूत हुए। उन्होंने कहा कि त्योहारों से पहले विभिन्न खंडों में खुदरा मांग को लेकर बाजार में उत्साह है। 

इसे भी पढ़ें: भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2022 में घटकर 5.7 प्रतिशत रहने का अनुमान: अंकटाड

नवरात्रि त्योहार समाप्त होने से पहले आईटी समेत सभी खंडवार सूचकांक लाभ में रहे। एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की लाभ में रहे। अमेरिकी बाजार में तेजी के बाद एशियाई बाजारों में मजबूती रही। अमेरिका में कुछ विनिर्माण पीएमआई आंकड़े कमजोर होने से यह संभावना जतायी जा रही है कि फेडरल रिजर्व आक्रामक रूप से ब्याज दर में वृद्धि पर कुछ अंकुश लगा सकता है। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख रहा। अमेरिकी बाजार सोमवार को बढ़त में रहे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.78 प्रतिशत चढ़कर 89.55 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने मंगलवार को 1,344.63 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। हाल के दिनों में एफआईआई शुद्ध रूप से बिकवाल रहे थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़