कारोबार के अच्छे संचालन के लिए मजबूत निगरानी व्यवस्था जरूरी: शक्तिकांत दास

shaktikanta das
आरबीआई ने एक बयान में कहा कि गवर्नर ने अपने संबोधन में वित्तीय क्षेत्र में संचालन के अच्छे मानक सुनिश्चित करने में सतर्कता की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया।

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने वित्तीय क्षेत्र में निरोधक सतर्कता व्यवस्था मजबूत करने की जरूरत बतायी। उन्होंने कहा कि कारोबार की कुशलता और बेहतर संचालन सुनिश्चित करने के लिये यह जरूरी है। सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2020 के तहत केंद्रीय बैंक द्वारा आयोजित एक परिचर्चा में उन्होंने यह बात कही। आरबीआई ने एक बयान में कहा कि गवर्नर ने अपने संबोधन मेंवित्तीय क्षेत्र में संचालन के अच्छे मानक सुनिश्चित करने में सतर्कता की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित किया। 

इसे भी पढ़ें: वित्त मंत्रालय ने अनुग्रह राहत भुगतान पर एफएक्यू जारी किया, 29 फरवरी को बकाया कर्ज पर होगी गणना 

उन्होंने दक्षता बढ़ाने के लिये निरोधक सतर्कता व्यवस्था को मजबूत किये जाने की जरूरत पर भी बल दिया। रिजर्व बैंक 27 अक्टूबर से 2 नवंबर तक सतर्कता जागरूकता सप्ताह मना रहा है जिसका विषय है- सतर्क भारत, समृद्ध भारत। इस दौरान केंद्रीय और क्षेत्री कार्यालयों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। इसी के तहत आरबीआई ने सतर्कता से जुड़े दो विषयों पर परिचर्चा का आयोजन किया था। केंद्रीय सतर्कता आयुक्त संजय कोठारी मुख्य अतिथि थे। कोठारी ने सतर्कता व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये प्रणाली में सुधार पर जोर दिया। उन्होंने बैंक अधिकारियों के कैरिअर के विभिन्न चरणों में प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण पर भी जोर दिया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़