दुनिया में सबसे खराब ट्रैफिक बंगलूरू में, टॉप 10 में चार भारत के यह शहर

दुनिया में सबसे खराब ट्रैफिक बंगलूरू में, टॉप 10 में चार भारत के यह शहर

बता दें कि दुनिया के कई शहरों के ट्रैफिक जाम का रिपोर्ट कार्ड सामने आया है। आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि इस लिस्ट केअनुसार दुनिया के टॉप 10 में से 4शहर भारत के हैं। यह ताजा रिपोर्ट लोकेशन टेक्नोलॉजी के विशेषज्ञ, टॉमटॉम ने जारी किया है। टॉमटॉम ने 57 देशों के 416 शहरों के ट्रैफिक रिपोर्ट तैयार किया है।

नई दिल्ली। जरा सोचिए सुबह आप अच्छे फिलिंग के साथ ऑफिस या कॉलेज जाने के लिए तैयार होते है। आप अपनी कार में खुशी-खुशी बैठते है और जल्दी से ऑफिस या कॉलेज जाने के लिए निकल जाते हैं फिर अचानक आपके सामने आता है ट्रेफिक जाम। हुआ न मूड खराब! ट्रैफिक जाम एक ऐसी सरदर्दी है जो आपके मूड को सेंकेड में खराब कर सकती है। ट्रैफिक जाम से दुनिया के कई शहर परेशान है। भारत में भी ट्रैफिक जाम की बहुत समस्या है। यह एक ऐसी दिक्कत है जिसका आम आदमी को हर रोज सामना करना पड़ता है। 

इसे भी पढ़ें: जानें क्या है Instoried और कैसे शुरू कर सकते हैं अपना खुद का स्टार्टअप

बता दें कि दुनिया के कई शहरों के ट्रैफिक जाम का रिपोर्ट कार्ड सामने आया है। आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि इस लिस्ट के अनुसार दुनिया के टॉप 10 में से 4 शहर भारत के हैं। यह ताजा रिपोर्ट लोकेशन टेक्नोलॉजी के विशेषज्ञ, टॉमटॉम ने जारी किया है। टॉमटॉम ने 57 देशों के 416 शहरों के ट्रैफिक रिपोर्ट तैयार किया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक टॉप-10 की लिस्ट में बेंगलुरु पहले नंबर पर है। आईटी हब के नाम से फेमस इस शहर में सब कुछ बढि़या है सिवाए एक चीज के और वो है यहां का घटिया ट्रैफिक जाम।

इसे भी पढ़ें: जेब में नहीं है ATM कार्ड और तुरंत निकालने है पैसे, तो जानें यह तरीका

आपको बता दें कि यहां का ट्रैफिक जाम इतना ज्यादा होता है कि इतने समय में फुटबॉल मैच खेला जा सकता है। अगर आपके एयरपोर्ट जानें का समय 2 बजे है और आप बेंगलुरु जैसे शहर में है तो जान लिजिए कि आपको अपने वक्त से 3 घंटे पहले ही एयरपोर्ट के लिए रवाना होना पड़ेगा। टॉमटॉम के रिपोर्ट के मुताबिक बेंगलुरु में ट्रैफिक जाम की वजह से लोगों को अपने ठिकाने तक पहुंचने में एवरेज 71 फीसदी ज्यादा समय लगता है। यहां peak hour के दौरान गाड़ी चलाने वाले लोगों को हर साल 243 घंटे यानी 10 दिन ज्यादा ट्रैफिक जाम में फंसकर बिताना पड़ता है। 

इसे भी पढ़ें: वैश्विक संकेतों से शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में 250 अंक से अधिक की तेजी

बेंगलुरु के अलावा मुंबई, पुणे और दिल्ली भी ट्रैफिक जाम के इस रिपोर्ट में शामिल है। जान लें कि नाइट लाइफ के नाम से जानने वाला शहर मुंबई में ट्रैफिक जाम की वजह से लोगों को अपने ठिकाने तक पहुंचने में एवरेज 65 फीसदी ज्यादा समय लगता है। वहीं पुणे में ट्रैफिक जाम की वजह से लोगों को 59 फीसदी ज्यादा समय ट्रैफिक जाम में फंसे हुए बिताते है। 

इसे भी पढ़ें: UPI क्षेत्र में और ज्यादा नयी कंपनियों के उतरने की संभावना नहीं: रिपोर्ट

भारत की कैपिटल दिल्ली भी ट्रैफिक जाम के मामले में पीछे नहीं है। बता दें कि ट्रैफिक जाम में फंसे रहने में दिल्ली को इस रिपोर्ट में 8वां स्थान मिला है। यानि की दिल्लीवासी 56 फीसदी समय ट्रैफिक जाम में बिताते है। जरा सोचिए इतना समय ट्रैफिक जाम में बिताने से कितना नुकसान होता है। दुनिया के और शहरों की बात करें जो टॉप 10 में शामिल है उसमें हैं फिलीपिंस का मनिला (71 फीसदी), कोलंबिया का बोगोटा (68 फीसदी), रूस का मास्को;(59 फीसदी) पेरू का लीमा (57 फीसदी), तुर्की का इस्तांबुल (55 फीसदी) और इंडोनेशिया का जकार्ता (53 फीसदी)।