शेयर बाजार में आई बढ़त, सेंसेक्स, निफ्टी में लगातार चौथे दिन उछाल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 4 2019 6:09PM
शेयर बाजार में आई बढ़त, सेंसेक्स, निफ्टी में लगातार चौथे दिन उछाल
Image Source: Google

आर्थिक समीक्षा में देश की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में सात प्रतिशत रहने के अनुमान के बाद बृहस्पतिवार को शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुए। लगातार चौथे दिन शेयर बाजार में तेजी का रुख देखने को मिला। विश्लेषकों के मुताबिक निवेशक नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट को लेकर आशान्वित रहे।

मुंबई। आर्थिक समीक्षा में देश की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में सात प्रतिशत रहने के अनुमान के बाद बृहस्पतिवार को शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुए। लगातार चौथे दिन शेयर बाजार में तेजी का रुख देखने को मिला। विश्लेषकों के मुताबिक निवेशक नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले बजट को लेकर आशान्वित रहे। उन्हें उम्मीद है कि सरकार उपभोग बढ़ाने और वृद्धि को नयी गति देने वाले के कदम उठा सकती है। बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 68.81 अंक या 0.17 प्रतिशत चढ़कर 39,908.06 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 39,979.10 अंक और नीचे में 39,858.33 अंक के दायरे में रहा। 

इसे भी पढ़ें: वैश्विक रुख से तय होगी वैश्विक शेयर बाजार की दिशा

इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 30 अंक यानी 0.25 प्रतिशत बढ़कर 11,946.75 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान निफ्टी ऊंचे में 11,969.25 अंक तक गया जबकि नीचे में 11,923.65 अंक तक गया। भारती एयरटेल, टाटा मोटर्स, इंड्सइंड बैंक, कोटक बैंक, हीरो मोटोकॉर्प, एशियन पेंट्स और पावरग्रिड के शेयरों में सबसे अधिक तेजी देखी गयी। वहीं येस बैंक, एचसीएल टेक, वेदांता, सन फार्मा, टाटा स्टील एलएंडटी, एचडीएफसी बैंक और एनटीपीसी के शेयरों में 3.56 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गयी। आनन्द राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स के बुनियादी शोध विभाग (निवेश सेवाओं) के प्रमुख नरेंद्र सोलंकी के मुताबिक आर्थिक सर्वेक्षण में चालू वित्त वर्ष के दौरान जीडीपी वृद्धि के सात प्रतिशत पर रहने के अनुमान के बाद बाजार में धारणा सकारात्मक रही। उन्होंने कहा कि ऋण उठाव एवं मांग बढ़ने से वित्त वर्ष 2019-20 में निवेश गति पकड़ता दिख रहा है। हालांकि इस सप्ताह मानसून की बारिश को लेकर चिंताओं की वजह से यह बढ़त सीमित रही। 

इसे भी पढ़ें: सोना 280 रुपये बढ़कर 34,000 रुपये के पार, चांदी 710 रुपये चढ़ी



बजट से पूर्व बृहस्पतिवार को संसद में पेश आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि 2024-25 तक पांच हजार अरब की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए जरूरी है कि देश अपनी आर्थिक वृद्धि की रफ्तार को बढ़ाए। क्षेत्रवार बात करें तो दूरसंचार, रीयल इस्टेट, एफएमसीजी और वाहन क्षेत्र के शेयरों में 1.53 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गयी। वहीं टिकाऊ उपभोग, धातु एवं स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के शेयरों में 1.58 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी। इसी बीच अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया 24 पैसे मजबूत होकर 68.89 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। एशियाई बाजारों की बात करें तो शंघाई और हांगकांग में बाजार गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं तोक्यो एवं सियोल में शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुए। यूरोप में शेयर बाजार प्रारंभिक सत्र में सकारात्मक रुख के साथ खुले। वहीं वैश्विक तेल बेंचमार्क, ब्रेंट कच्चे तेल का वायदा 0.08 प्रतिशत गिरकर 63.77 डॉलर प्रति बैरल पर रहा।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story