Twitter के सीईओ पराग अग्रवाल का बड़ा एक्शन, बंद हुए 3,500 अकाउंट्स; हटा ब्लू टिक

Twitter के सीईओ पराग अग्रवाल का बड़ा एक्शन, बंद हुए 3,500 अकाउंट्स; हटा ब्लू टिक

ट्वीटर ने लगभग तीन हजार से भी ज्यादा यूजर के अकाउंट्स को बंद कर दिया है।कंपनी के मुताबिक, 3500 अकाउंट्स वो है जो चीन और रूस समेत 6 देशों में सरकार समर्थक प्रोपेगैंडा चला रहे थे। ट्वीटर ने साथ में यह भी कहा कि, यह अकाउंट्स सरकार के समर्थक में प्रचार पोस्ट कर रहे थे।

पराग अग्रवाल हाल ही में ट्वीटर के नए सीईओ बने हैं और उनके पद संभालते ही बवाल मच गया है। हाल ही में ट्वीटर में एक नियम लागू किया गया है जिसके तहत दूसरे युजर की तस्वीर बिना उसकी अनुमति के कहीं भी शेयर नहीं कर पाएंगे। इस नए नियम के बाद अब ट्वीटर ने गुरुवार को एक बड़ा एक्शन लिया है। बता दें कि ट्वीटर ने लगभग तीन हजार से भी ज्यादा यूजर के अकाउंट्स को बंद कर दिया है।

कंपनी के मुताबिक, 3500 अकाउंट्स वो है जो चीन और रूस समेत 6 देशों में सरकार समर्थक प्रोपेगैंडा चला रहे थे। ट्वीटर ने साथ में यह भी कहा कि, यह अकाउंट्स सरकार के समर्थक में प्रचार पोस्ट कर रहे थे। अपने बयान में ट्वीटर ने कहा कि, ऐसे अकाउंट्स को बंद किया गया है जो उइगर समुदाय के इलाज से संबंधित चीन की पार्टी कम्युनिस्ट पार्टी के नरेटिव को बढ़ावा देता है। कपंनी ने आगे कहा कि, 2048 ऐसे अकाउंट्स का रिप्रेजेंटेटिव सैंपल जारी किया जाएगा। तीन साल पहले भी ट्वीटर में राज्य से सबंधित सूचना संचालन से संबंधित डेटा का एक पब्लिक आरकाइव को पब्लिश किया गया था। ट्वीटर ने आगे कहा कि, हमने चीन के झिंजियांग क्षेत्रीय सरकार की ओर से एक निजी कपंनी चांगयु कल्चर से सबंधित 112 अकाउंट्स को भी हटाया है।

ट्वीटर के इस एक्शन के बाद परेशान हुए यूजर्स, पराग अग्रवाल को टैग कर की शिकायत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ट्वीटर के सीईओ पराग अग्रवाल कई नए निया लागू करने वाले हैं। उनके पद संभालते ही उन्होंने 1 दिसंबर को निजी सूचना सुरक्षा नीति की पॉलिसी को अपडेट किया था फिर उसके अगले दिन यानि कि 2 दिसंबर को अचानक से लाखों यूजर्स के फॉलोअर्स घचने लग गए जिसके बाद यूजर ट्वीटर के सीईओ को टैग कर शिकायत शुरू कर दी। कई वैरिफाइड यूजर्स के ब्लू टिक भी हट गए जिसके बाद कई यूजर्स काफी परेशान रहे। लोगों ने ट्वीटर हेल्प डेस्क और सीईओ पराग अग्रवाल को टैग कर शिकायत भी करना शुरू कर दिया लेकिन अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि आखिर यूजर्स के अचानक से फॉलोअर्स घट क्यों रहे है?