VI ने शिक्षा, स्वास्थ्य संबंधी डिजिटल उत्पादों के लिए साझेदारी की, ग्राहकों को मिलेंगे विशेष लाभ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   15:42
  • Like
VI ने शिक्षा, स्वास्थ्य संबंधी डिजिटल उत्पादों के लिए साझेदारी की, ग्राहकों को मिलेंगे विशेष लाभ

वोडाफोन आइडिया ने शिक्षा, स्वास्थ्य संबंधी डिजिटल उत्पादों के लिए साझेदारी की है।वीआईएल ने बताया कि दूरसंचार सेवाओं के साथ ही वह डिजिटल सेवाओं की पेशकश पर खासतौर से ध्यान दे रही है। इसके तहत कंपनी ने अपग्रेड, यूडेमी, पेडाजोजी, क्योर डॉट फिट, वनएमजी, एमफाइन, यूनीमार्ट और अन्य सेवाप्रदाताओं के साथ साझेदारी की है।

नयी दिल्ली। वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (वीआईएल) ने शुक्रवार को कहा कि उसने शिक्षा और स्वास्थ्य संबंधी डिजिटल उत्पादों और सेवाओं की पेशकश के लिए कई साझेदारियां की हैं, जिसके तहत ग्राहकों को विशेष लाभों की पेशकश की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: ऑटो कंपनी Nissan India ने की नई डीलरशिप खोलने की घोषणा

दूरसंचार कंपनी के इस कदम से डिजिटल जुड़ाव बढ़ाने के साथ ही आय बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। वीआईएल ने बताया कि दूरसंचार सेवाओं के साथ ही वह डिजिटल सेवाओं की पेशकश पर खासतौर से ध्यान दे रही है। इसके तहत कंपनी ने अपग्रेड, यूडेमी, पेडाजोजी, क्योर डॉट फिट, वनएमजी, एमफाइन, यूनीमार्ट और अन्य सेवाप्रदाताओं के साथ साझेदारी की है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




167 अंक के नुकसान से 49,000 अंक से अधिक पर बंद हुआ सेंसेक्स

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   18:23
  • Like
167 अंक के नुकसान से 49,000 अंक से अधिक पर बंद हुआ सेंसेक्स

सेंसेक्स 50,000 अंक के पार जाने के बाद मुनाफावसूली से फिसला।इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 54.35 अंक या 0.37 प्रतिशत टूटकर 14,590.35 अंक पर आ गया। सेंसेक्स की कंपनियों में ओएनजीसी का शेयर सबसे अधिक चार प्रतिशत टूट गया।

मुंबई। बीएसई सेंसेक्स बृहस्पतिवार को 167 अंक के नुकसान से 49,624.76 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले सकारात्मक वैश्विक रुख तथा वृद्धि को लेकर उम्मीद बढ़ने से दिन में कारोबार के दौरान सेंसेक्स पहली बार ऐतिहासिक 50,000 अंक के स्तर के पार गया। बैंकिंग, वित्तीय और आईटी शेयरों में बिकवाली से सेंसेक्स ने अपना शुरुआती लाभ गंवा दिया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स अंत में 167.36 अंक या 0.34 प्रतिशत के नुकसान से 49,624.76 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 54.35 अंक या 0.37 प्रतिशत टूटकर 14,590.35 अंक पर आ गया। सेंसेक्स की कंपनियों में ओएनजीसी का शेयर सबसे अधिक चार प्रतिशत टूट गया। भारती एयरटेल, एसबीआई, इंडसइंड बैंक, एनटीपीसी, सन फार्मा और आईटीसी के शेयर भी नीचे आए।

इसे भी पढ़ें: भारत रोड नेटवर्क ने ओडिशा की सड़क परियोजनाओं की बिक्री के लिए किया करार

वहीं दूसरी ओर बजाज फाइनेंस, बजाज ऑटो, रिलायंस इंडसट्रीज, बजाज फिनसर्व और एशियन पेंट्स के शेयर 2.72 प्रतिशत तक चढ़ गए। शेयर बाजारों ने फ्यूचर रिटेल के खुदरा परिसंपत्तियों के बिक्री सौदे को मंजूरी दे दी है। फ्यूचर रिटेल 24,713 करोड़ रुपये में अपनी खुदरा परिसंपत्तियों की बिक्री मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस समूह को करने जा रही है। इससे रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 2.09 प्रतिशत चढ़ गया। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक मोतीलाी ओसवाल ने कहा कि महामारी के बार आर्थिक गतिविधियों में तेज सुधार की उम्मीद से बाजार में कुछ समय से मजबूती की धारणा है। ‘वैश्विक संकेतों के सकारात्मक होने , विदेशी संस्थागत निवेश का प्रवाह मजबूत बने रहने और कंपनियों के बेहतर तिमाही परिणाकों से उत्साह उंचा बना हुआ है।’ उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है, कंपनियों का लाभ अच्छा दिखने, तरला की मजबूत स्थिति, कोरोना वैक्सीन के विकास के मार्चे पर सफलता, आर्थिक स्थित में सुधार का आधार व्यापक होने तथा ब्याज दरें नीचे रहने से यह तेजी आगे भी जारी रहने की उम्मीद है।’ जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ‘‘सेंसेक्स का 50,000 अंक पर पहुंचना न केवल बाजार और निवेशकों बल्कि अर्थव्यवस्था के लिए भी अच्छी खबर है।

इसे भी पढ़ें: HDFC ने गुड होस्ट से किया करार, 232.81 करोड़ में बेचेगी अपनी हिस्सेदारी

बाजार अर्थव्यवस्था के ‘बैरोमीटर’ होते हैं। यदि यह सही है तो भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत सुधार की राह पर है। यदि वृद्धि के मोर्चे और कंपनियों की आमदनी में सुधार जारी रहता है, तो बाजार और ऊंचाई पर जाकर हैरान कर सकते हैं।’’ उन्होंने कहा कि इसके साथ ही यह भी महत्वपूर्ण हैकि लघु अवधि की दृष्टि से बाजार का मूल्यांकन अधिक है। ऐसे में उच्चस्तर पर बाजार में ‘करेक्शन’ हो सकता है। जो बाइडन के अमेरिका के राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद वैश्विक बाजारों में मजबूती का रुख था। अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, दक्षिण कोरिया के कॉस्पी और जापान के निक्की में लाभ रहा। हांगकांग के हैंगसेंग में गिरावट आई। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजारों में मिलाजुला रुख था। इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.89 प्रतिशत के नुकसान से 55.58 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया छह पैसे की बढ़त के साथ 72.99 प्रति डॉलर पर पहुंच गया। यह इसका करीब पांच माह का उच्चस्तर है। शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को शुद्ध रूप से 2,289.05 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




दिल्ली-एनसीआर वालों के लिए बड़ी खबर! ट्रैफिक नियमों का किया उल्लंघन तो पडे़गा भारी

  •  निधि अविनाश
  •  जनवरी 21, 2021   16:39
  • Like
दिल्ली-एनसीआर वालों के लिए बड़ी खबर! ट्रैफिक नियमों का किया उल्लंघन तो पडे़गा भारी

इंश्योरेंस रेगुलेटर के इस नियम के मुताबिक, आपको अतिरिक्त प्रीमियम दो-पहिया वाहनों के लिए 100 रुपये से 750 रुपये के बीच का जुर्माना भरना होगा वहीं चार-पहिया वाहनों और कमर्शियल वाहनों के लिए जुर्माना 300 रुपये से 1,500 रुपये के बीच में होगा।

ट्रैफिक रूल्स को लेकर दिल्ली-एनसीआर वालों के लिए बड़ी खबर है। बता दें कि अगर आपने ट्रैफिक के नियमों का उल्लघंन किया तो आपको काफी भारी पड़ने वाला है। खबर के मुताबिक, ट्रैफ़िक उल्लंघन के लिए वाहन बीमा प्रीमियम को जोड़ने के लिए जल्द ही एक साल की पायलट परियोजना शुरू की जाएगी जिसके तहत अगर दिल्ली-एनसीआर में कोई ट्रैफिक नियमों का उल्लघंन करता है तो उसको कार का प्रीमीयम रिन्यू कराते समय अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करना पडे़गा। इंश्योरेंस रेगुलेटर के इस नियम के मुताबिक, आपको अतिरिक्त प्रीमियम दो-पहिया वाहनों के लिए 100 रुपये से 750 रुपये के बीच का जुर्माना भरना होगा वहीं चार-पहिया वाहनों और कमर्शियल वाहनों के लिए जुर्माना 300 रुपये से 1,500 रुपये के बीच में होगा। 

इसे भी पढ़ें: भारत रोड नेटवर्क ने ओडिशा की सड़क परियोजनाओं की बिक्री के लिए किया करार

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (IRDA) द्वारा प्रकाशित एक्सपोज़र ड्राफ्ट के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति शराब के नशे में कार चलाते वक्त पकड़ा गया तो ड्राइवर को अधिकतम ट्रैफ़िक उल्लंघन प्वाइंट्स मिलेगा। वहीं. कार चलाते समय फोन पर बात करते हुए पाए गए तो उसके लिए भी दूसरा सबसे अधिक उल्लंघन प्वाइंट्स मिलेंगे। इसके अलावा अगर दो सालों में अपराध दूसरी बार और तीसरी बार किया जाता है तो ट्रैफिक उल्लंघन प्वाइंट भी दोगुने-तिगुने होते जाएंगे। खबर के मुताबिक, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस, ट्रैफ़िक उल्लंघन को डिजिटल के रूप में रिकॉर्ड करेगी। हालांकि शुरुआत में पायलट की योजना केवल दिल्ली में पंजीकृत वाहनों के लिए थी, लेकिन यह पाया गया था कि शहर की सड़कों पर भारी संख्या में वाहन एनसीआर से आते हैं । इसी को देखते हुए अब यह नियम दिल्ली के अलावा एनसीआर वाहनों को भी शामिल किया गया है। खबरों के मुताबिक, इस नियम को अन्य राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों तक भी बढ़ाया जाएगा। TOI ने 29 जून, 2020 को पहली बार IRDA की दिल्ली में इस पायलट को लॉन्च करने की योजना की सूचना दी थी। 







RBI का अनुमान, भारत की GDP की वृद्धि दर सकारात्मक होने के बिल्कुल करीब

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2021   14:35
  • Like
RBI का अनुमान, भारत की GDP की वृद्धि दर सकारात्मक होने के बिल्कुल करीब

भारतीय रिजर्व बैंक ने अनुमान लगाया है कि भारत की जीडीपी की वृद्धि दर सकारात्मक होने के बिल्कुल करीब है।सरकार के अनुमान के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.7 प्रतिशत की गिरावट आने का अनुमान है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही अप्रैल-जून में अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की जबर्दस्त गिरावट आई थी।

मुंबई। भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) सकारात्मक वृद्धि दर हासिल करने के करीब है। भारतीय रिजर्व बैंक ने यह अनुमान लगाया है। केंद्रीय बैंक का कहना है कि वी-आकार के सुधार में ‘वी’ से आशय वैक्सीन (टीके) से है। भारत सरकार ने लोगों का कोविड-19 महामारी से बचाव करने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम 16 जनवरी से शुरू किया है। रिजर्व बैंक के जनवरी के बुलेटिन में ‘अर्थव्यवस्था की स्थिति’ पर लेख में कहा गया है, ‘‘2021 कैसा होगा? सुधार का आकार ‘वी-आकार’ का होगा। वी से तात्पर्य वैक्सीन से है।’’ इन लेख को रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर माइकल देवव्रत पात्रा और अन्य ने लिखा है। लेख में कहा गया है कि दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान में भारत के साथ लाभ की स्थिति सबसे बड़ी टीका विनिर्माण क्षमता है। इसके अलावा भारत के पास पोलियो और चेचक के खिलाफ टीकाकरण का अनुभव भी है। केंद्रीय बैंक ने कहा कि यदि यह सफल रहता है, तो इससे जोखिम का संतुलन ऊपर की ओर झुक जाएगा।

इसे भी पढ़ें: भारत रोड नेटवर्क ने ओडिशा की सड़क परियोजनाओं की बिक्री के लिए किया करार

हालांकि, रिजर्व बैंक ने स्पष्ट किया है कि लेख में विचार लेखकों के हैं और आवश्यक रूप से इन्हें केंद्रीय बैंक की राय नहीं माना जाए। लेख में कहा गया है कि भारत की स्थिति को उबारने में ई-कॉमर्स और डिजिटल प्रौद्योगिकी की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। हालांकि, महामारी से पूर्व का उत्पादन स्तर और रोजगार हासिल करने में अभी काफी समय लगेगा। लेख में कहा गया है कि वृहद आर्थिक क्षेत्र में हालिया बदलाव से कुल परिदृश्य चमकदार हुआ है और जीडीपी की वृद्धि दर सकारात्मक होने के करीब है। साथ ही मुद्रास्फीति भी घटकर लक्ष्य के पास आ रही है। सरकार के अनुमान के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2020-21 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.7 प्रतिशत की गिरावट आने का अनुमान है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही अप्रैल-जून में अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की जबर्दस्त गिरावट आई थी।

इसे भी पढ़ें: HDFC ने गुड होस्ट से किया करार, 232.81 करोड़ में बेचेगी अपनी हिस्सेदारी

वहीं दूसरी जुलाई-सितंबर की तिमाही में अर्थव्यवस्था 7.5 प्रतिशत नीचे आई थी। लेख में कहा गया है कि सीजन समाप्त होने से पहले रबी का बुवाई क्षेत्र सामान्य से अधिक हो गया है। ऐसे में 2021 में कृषि उत्पादन बंपर रहने की उम्मीद है। इसमें कहा गया है कि भारत वैक्सीन विनिर्माण की वैश्विक राजधानी है। ऐसे में वैश्विक स्तर पर टीकाकरण शुरू होने से भारत का फार्मास्युटिकल्स निर्यात तेजी से बढ़ेगा। उत्पादन से संबंधित (पीएलआई) योजना के तहत कृषि निर्यात जुझारू क्षमता दिखा रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept