क्रिकेट में नस्लवाद विरोधी आंदोलन को नयी दिशा देने की जरूरत : होल्डर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 10, 2021   11:23
  • Like
क्रिकेट में नस्लवाद विरोधी आंदोलन को नयी दिशा देने की जरूरत : होल्डर

वेस्टइंडीज के आलराउंडर जैसन होल्डर का मानना है कि क्रिकेट में नस्लवाद विरोधी आंदोलन मैचों से पहले एक घुटने के बल पर बैठकर सांकेतिक समर्थन तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए और इसके कुछ मायने होने चाहिए।

नयी दिल्ली। वेस्टइंडीज के आलराउंडर जैसन होल्डर का मानना है कि क्रिकेट में नस्लवाद विरोधी आंदोलन मैचों से पहले एक घुटने के बल पर बैठकर सांकेतिक समर्थन तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए और इसके कुछ मायने होने चाहिए। अमेरिका में अफ्रीकी मूल के जार्ज फ्लायड की एक श्वेत पुलिस अधिकारी के हाथों मौत के बाद ब्लैक लाइव्स मैटर (अश्वेतों का जीवन मायने रखता है) आंदोलन शुरू हुआ था।

इसे भी पढ़ें: ममता से मुलाकात पर बोले टिकैत, देश के अंदर मुख्यमंत्री से मिलने के लिए वीजा लगता है?

वेस्टइंडीज उन पहली दो अंतरराष्ट्रीय टीमों में शामिल था जिसके खिलाड़ियों ने एक घुटने के बल पर बैठकर इसका समर्थन किया था। ईएसपीएनक्रिकइन्फो के अनुसार होल्डर ने कहा, मैंने इसको लेकर कुछ चर्चा की थी और मुझे लगता है कि कुछ लोगों को लगता है कि मैचों से पहले की जाने वाली यह अप्रभावी क्रिया है। मैं इस आंदोलन में नयी जान फूंकने के लिये कुछ नयी पहल देखना चाहता हूं।

इसे भी पढ़ें: भारत को कोविड-19 रोधी आठ करोड़ टीके देगा अमेरिका : विदेश विभाग

उन्होंने कहा, मैं नहीं चाहता था कि लोग केवल यह सोचें कि वे ब्लैक लाइव्स मैटर के लिये घुटने टेक रहे हैं क्योंकि यही परंपरा है, यही चलन है। इसका कुछ अर्थ होना चाहिए। वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला से पहले खिलाड़ियों से नस्लवाद विरोधी आंदोलन को आगे बढ़ाने के ​लिये और अधिक प्रयास करने का आग्रह भी किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept