आईपीएल का मंच तो सज गया पर सुरक्षित माहौल में मैच कराना बड़ी चुनौती

  •  आदर्श प्रकाश सिंह
  •  अप्रैल 7, 2021   10:22
  • Like
आईपीएल का मंच तो सज गया पर सुरक्षित माहौल में मैच कराना बड़ी चुनौती

मुंबई में आईपीएल के कई मैच रखे गए हैं लेकिन वहां जो स्थिति है उससे खतरा फिर मंडरा रहा है। इन हालात में हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने कुछ मैच हैदराबाद में कराने की पेशकश की है।

इंडियन प्रीमियर लीग−2021 का मंच सज चुका है। जल्द ही धूम धड़ाके वाली इस प्रतियोगिता के मैच आरंभ हो जाएंगे। चेन्नई में 9 अप्रैल को पहला मैच गत विजेता मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के बीच होगा। भारत में आईपीएल के नाम से क्रिकेट की यह स्पर्धा एक ब्रांड का रूप ले चुकी है। टी−20 के प्रारूप में हर साल होने वाले मैच भरपूर मनोरंजन तो देते ही हैं, खिलाड़ियों को पैसा कमाने का एक अच्छा अवसर भी मिल जाता है। आईपीएल में कई प्रमुख कंपनियों का भारी भरकम धन लगा होता है। वे लाखों−करोड़ों रुपये देकर देशी या विदेशी खिलाड़ियों को नीलामी में खरीदती हैं। ऐसे में यदि आईपीएल न हो तो इन कंपनियों को बड़ी आर्थिक चपत लगने का अंदेशा रहता है। यही कारण है कि यह आयोजन किसी भी दशा में होता अवश्य है। पिछले साल कोरोना महामारी की वजह से जब भारत में आईपीएल कराना संभव नहीं हुआ और लॉकडाउन भी लंबा खिंच गया तो संयुक्त अरब अमीरात में यह प्रतियोगिता काफी देर से हुई। बता दें कि हर साल गर्मियों में यानी अप्रैल−मई के दौरान ये मैच खेले जाते हैं। यूएई में बिना दर्शकों की मौजूदगी में क्रिकेट का यह महा आयोजन संपन्न हुआ। आईपीएल में पैसे की ताकत सिर चढ़ कर बोलती है। तभी तो वर्ष 2020 में ओलंपिक समेत कई विश्व प्रतियोगिताएं टाल दी गईं, उसके बावजूद बीसीसीआई ने आईपीएल कराने का रास्ता निकाल लिया।

इसे भी पढ़ें: ‘माही भाई’ के खिलाफ कप्तान के रूप में पहले मैच में कुछ अलग करना चाहता हूं: ऋषभ पंत

कोविड−19 से उपजे हालात अब भी ठीक नहीं हुए हैं। आज भी हम उसी डर के साए में जी रहे हैं, जैसे पिछले साल मार्च के बाद के दिनों में थे। इधर कई राज्यों में इस महामारी ने फिर से सिर उठा लिया है। देश में चिंताजनक स्थिति बनती जा रही है। मुंबई में आईपीएल के कई मैच रखे गए हैं लेकिन वहां जो स्थिति है उससे खतरा फिर मंडरा रहा है। इन हालात में हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने कुछ मैच हैदराबाद में कराने की पेशकश की है। उनका कहना है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते अगर मुंबई से मैच हटाने पड़े तो बीसीसीआई उनके राज्य की सुविधाओं का इस्तेमाल कर सकती है। मुंबई में पहला मैच 10 अप्रैल को दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच होना है। उल्लेखनीय है कि मुंबई को 10 मैचों की मेजबानी करनी है। मगर, वहां कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए बीसीसीआई ने इंदौर और हैदराबाद को 'स्टैंड बाई' के तौर पर तैयार रहने को कह दिया है। बहरहाल, सुरक्षित माहौल में मैच कराना किसी चुनौती से कम नहीं है। दर्शक तो स्टेडियम में जाने से रहे, लोग अपने घरों में टीवी पर मैच का आनंद उठाएंगे।

कई खिलाड़ी कोरोना की चपेट में

मुकाबला आरंभ होने से पहले ही कोरोना ने अपना डंक मारना शुरू कर दिया है। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम के 10 कर्मचारी और प्रतियोगिता प्रबंधन से जुड़े छह सदस्य पॉजिटिव पाए गए हैं। इन मामलों के बाद मुंबई की मेजबानी पर संकट भी आ गया है। हालांकि, इसके बावजूद बीसीसीआई को उम्मीद है कि 10 से 25 अप्रैल के बीच इस शहर में आईपीएल के मैच हो जाएंगे। इस बीच दिल्ली कैपिटल्स टीम के स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल संक्रमित हो गए हैं। वह निगेटिव रिपोर्ट के साथ 28 मार्च को मुंबई स्थित होटल पहुंचे थे। वह आइसोलेशन में हैं। ऐसे में 10 अप्रैल को पहला मैच नहीं खेल सकेंगे। हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अक्षर ने बहुत उम्दा प्रदर्शन किया था। तीन टेस्ट मैचों में 27 विकेट लेकर उन्होंने खूब वाहवाही लूटी थी। इसलिए आईपीएल में सबकी निगाहें उन पर रहेंगी।  बेंगलुरू टीम को भी सलामी बल्लेबाज देवीदत्त पडीक्कल के पॉजिटिव पाए जाने के बाद झटका लगा है। पडीक्कल ने पिछले सत्र में अच्छी बल्लेबाजी की थी। चेन्नई मीडिया टीम का एक सदस्य भी पॉजिटिव पाया गया है। नियमों के मुताबिक कोरोना पीड़ित खिलाड़ी को 10 दिन अनिवार्य पृथकवास में रहना होगा। ऐसे में शुरू के कुछ मैचों से अक्षर और पडीक्कल को बाहर रहना पड़ेगा।        

इसे भी पढ़ें: दिल्ली की खिताब जीतने की उम्मीदों का दारोमदार युवा कप्तान ऋषभ पंत पर

मैच शुरू होने से पहले दिल्ली को झटका

आईपीएल का इंतजार फ्रैंचाइजी कंपनियों, दर्शकों, आयोजकों एवं खिलाड़ियों सभी को रहता है। इसमें भाग लेने वाला हर खिलाड़ी बड़ी शिद्दत से इंतजार करता है। मगर, दुर्भाग्य से कई खिलाड़ी चोटिल हो जाते हैं। मसलन, दिल्ली कैपिटल्स टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में घायल हो कर आईपीएल से बाहर हो चुके हैं। दिल्ली के लिए यह बड़ा झटका है। पिछले सीजन में श्रेयस की कप्तानी में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया था। उनकी जगह ऋषभ पंत को नया कप्तान बनाया गया है। एक खास बात यह कि ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ इस बार दिल्ली की टीम से जुड़ रहे हैं। वह पिछले सत्र में राजस्थान रायल्स टीम के कप्तान थे। इस बार राजस्थान की टीम ने उन्हें रिलीज कर दिया। स्मिथ के आने से दिल्ली की बल्लेबाजी मजबूत हो जाएगी। मध्य क्रम में स्मिथ बैटिंग करते हैं। फिलहाल वह सात दिन तक पृथकवास में रहेंगे।

कई खिलाड़ी इधर से उधर

आईपीएल के लिए हर साल खिलाड़ियों की बोली लगती है। इसलिए कुछ स्टार खिलाड़ियों को छोड़ कर कई की टीम बदल जाती है। जिनका प्रदर्शन फीका रहता है उस पर कंपनियां पैसा नहीं लगातीं और रिलीज कर देती हैं। देश के पूर्व स्पिनर हरभजन सिंह चेन्नई की टीम से खेलते थे, इस बार उन्होंने कोलकाता का रुख किया है। आलराउंडर केदार जाधव भी चेन्नई टीम का हिस्सा थे लेकिन इस बार वह सनराइजर्स हैदराबाद के साथ जुड़ रहे हैं। कंगारू देश के ग्लेन मैक्सवेल को इस बार बेंगलुरू ने खरीदा है। पिछले साल तक वह पंजाब टीम का हिस्सा थे। विराट कोहली की कप्तानी वाली बेंगलुरू की टीम अभी तक आईपीएल का खिताब नहीं जीत सकी है। इस बार 14वें संस्करण में वह चैंपियन बनने के लिए पूरा जोर लगाएगी।

 

इसे भी पढ़ें: IPL 2021 के नए सीजन के लिए राजस्थान रॉयल्स ने लॉन्च की नई जर्सी, यहां देखें वीडियो


क्या करेगी धोनी की टीम सीएसके ?

वैसे तो पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी जिस टीम में रहेंगे उससे जीत की उम्मीद ही करनी चाहिए। मगर, देश की ओर से सभी प्रारूपों से संन्यास लेने के बाद धोनी अब केवल आईपीएल में खेल रहे हैं। पिछले सत्र में चेन्नई सुपर किंग्स यानी सीएसके का प्रदर्शन बड़ा खराब रहा। धोनी की कप्तानी का कोई कमाल नहीं देखा गया। उनकी टीम फाइनल तो दूर प्ले ऑफ में भी नहीं पहुंच पाई। धोनी अब तक तीन बार सीएसके को आईपीएल का खिताब जिता चुके हैं। उम्र अब उनके साथ नहीं है। वह 38 साल पूरे कर चुके हैं। धोनी का खुद का प्रदर्शन वैसा नहीं रहा जिसके लिए वह जाने जाते हैं। हो सकता है, यह उनका आखिरी आईपीएल हो। पिछली बार सुरेश रैना बिना कोई मैच खेले यूएई से लौट आए थे। इस बार रैना धोनी के साथ हैं। देखना होगा, धोनी के धुरंधर कैसा प्रदर्शन करते हैं।

-आदर्श प्रकाश सिंह

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं)







This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept