आर माधवन ने 'Rocketry' से भरी उड़ान, क्या छू पाएगी आसमान? जानें कैसी है Rocketry: The Nambi Effect

Rocketry
ANI
रेनू तिवारी । Jul 05, 2022 1:12PM
रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट (Rocketry: The Nambi Effect) की चर्चा कान फिल्म फेस्टिवल के दौरान काफी बड़े स्तर पर हुई थी। फिल्म का प्रीमियर कान 2022 में हुआ था और जिन लोगों ने भी फिल्म को देखा था उन्होंने फिल्म की जमकर तारीफ की थी और नंबी की कहानी पर अफसोस जताया था।

रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट (Rocketry: The Nambi Effect) की चर्चा कान फिल्म फेस्टिवल के दौरान काफी बड़े स्तर पर हुई थी। फिल्म का प्रीमियर कान 2022 में हुआ था और जिन लोगों ने भी फिल्म को देखा था उन्होंने फिल्म की जमकर तारीफ की थी और नंबी की कहानी पर अफसोस जताया था। फिल्म में जिस सख्श की कहानी को दिखाया गया है उस पर देश की जासूसी जैसा गंभीर आरोप लगाया गया था। यह अपने आप में बहुत बड़ा आरोप है लेकिन एक लंबे संघर्ष के बाद कोर्ट उन्हें निर्दोष पाता है। ऐसे में कोर्ट केस के दौरान क्या कुछ उनकी जिंदगी में बदला फिल्म में उन्हीं बिंदुओं पर प्रकाश डाला गया है।

इसे भी पढ़ें: बला की खूबसूरती, तेज दिमाग और दमदार डांसर हैं मिस इंडिया-2022 सिनी शेट्टी, देखें डांसिंग से वीडियो

रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट (Rocketry: The Nambi Effect) एक बायोपिक फिल्म है जो आर माधवन द्वारा लिखित और निर्देशित प्रतिष्ठित अंतरिक्ष वैज्ञानिक डॉ. नंबी नारायणन (Dr. Nambi Narayanan) के जीवन पर आधारित है। फिल्म में सिमरन के साथ माधवन खुद मुख्य भूमिका में हैं, जबकि रवि राघवेंद्र, मुरलीधरन, श्याम रंगनाथन, सैम मोहन और अन्य महत्वपूर्ण सहायक भूमिकाएँ निभाते हैं। जयभीम फेम सुपरस्टार सूर्या ने फिल्म में एक कैमियो भी किया है। इसके अलावा बॉलीवुड स्टार शाहरूख खान ने भी पत्रकार की महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। संगीत सैम सीएस द्वारा रचित है और छायांकन (cinematography) सिरशा रे द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: KWK Season 7: सामंथा रुथ प्रभु ही नहीं ये बॉलीवुड सितारे भी शो पर कर चुके हैं अपनी जिंदगी से जुड़े कई चौकाने वाले खुलासे, पढ़ें किसने क्या कहा था

एक बायोपिक होने के नाते किसी भी व्यक्ति के एक लंबे संघर्ष को 2-3 घंटे में समेट पाना काफी मुश्किल होता है लेकिन आर माधवन ने रॉकेट्री बना कर यह करने की कोशिश की है। रॉकेट-साइंटिस्ट नंबी नारायणन की बायोपिक है। नंबी जासूसी का आरोप लगाया गया था। फिल्म में नंबी के तीन पहलुओं पर प्रमुख रूप से ध्यान केंद्रित किया गया है। सबसे पहले, अमेरिका में प्रिंसटन विश्वविद्यालय में उनका कार्यकाल। फिर इसरो में उनके दिन और आखिरकार बड़े कद के व्यक्ति के खिलाफ लगाए गए झूठे आरोपों के कारण नंबी और उनके परिवार को कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। 

फिल्म की शुरुआत नंबी के परिवार के एक साथ अच्छा समय बिताने और हंसी मजाक करते हुए शुरू होती है। फिर दिखाया जाता है कि  नंबी की गिरफ्तारी के दिन पूरे परिवार को क्या झेलना पड़ता है। उनके बेटे-बेटियों पर लाठियों, पत्थरों और यहां तक ​​कि गोबर से हमला किया जाता है। उसकी पत्नी को एक शादी से बाहर भेज दिया जाता है, और गिरफ्तारी से पहले पुलिस द्वारा उस पर हमला किया जाता है।

फिल्म के डायरेक्शन और कलाकारी की बात की जाए तो 'रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट' से माधवन डायरेक्टोरियल डेब्यू किया है। उन्होंने ने फिल्म में एक्टिंग और स्क्रिप्टिंग भी की है। फिल्म के प्रमोशन के दौरान उन्होंने बताया था कि कैसे वह अपने किरदार के लिए पहले मोटे हुए और कैसे उन्होंने अपने दांतों के साथ एक्सपेरिमेंट भी किया। साथ ही उन्होंने नंबी के साथ एक लंबा वक्त गुजाने के बाद उन्होंने स्क्रिप्ट लिखी थी। फिल्म में कोई कमी नहीं हैं लेकिन उन्होंने कुछ बातों को बार-बार दोहराया है। जो कई बार अजीब लगता है। फिल्म में आर माधवन की एक्टिंग शानदार है. उन्होंने नांबी नारायणन के किरदार को पूरे परफेक्शन के साथ निभाया है।

 

अन्य न्यूज़