हडिड्यों के कमजोर होने से बढ़ जाता है ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा, ऐसे करें बचाव

osteoporosis
Creative Commons licenses
मिताली जैन । Sep 25, 2022 9:11AM
अगर आपकी हड्डियां कमजोर हैं तो इसका अर्थ है कि आपकी बॉडी को आवश्यकता के अनुसार कैल्शियम नहीं मिल रहा है। इसलिए आपको अपनी डाइट में कैल्शियम इनटेक बढ़ाने की आवश्यकता है। इसके लिए आप कैल्शियम रिच फूड्स का सेवन करें।

व्यक्ति के स्वस्थ रहने के लिए हड्डियों का मजबूत होना बेहद आवश्यक है। जब व्यक्ति की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं, तो इससे ऑस्टियोपोरोसिस होने का खतरा काफी बढ़ जाता है। यह एक ऐसी स्थिति है, जब गिरने या हड्डियों पर हल्का दबाव पड़ने से भी फ्रैक्चर हो सकता है। ऑस्टियोपोरोसिस से संबंधित फ्रैक्चर आमतौर पर कूल्हे, कलाई या रीढ़ में होते हैं। नाजुक हड्डियों के कारण हिप फ्रैक्चर गंभीर और घातक भी हो सकता है। आपके साथ यह समस्या ना हो, इसलिए आपको हड्डियों का अतिरिक्त ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। इसके लिए कुछ आसान उपाय अपनाए जा सकते हैं, जिसके बारे में आज हम आपको इस लेख में बता रहे हैं-

डाइट में बढ़ाएं कैल्शियम की मात्रा

अगर आपकी हड्डियां कमजोर हैं तो इसका अर्थ है कि आपकी बॉडी को आवश्यकता के अनुसार कैल्शियम नहीं मिल रहा है। इसलिए आपको अपनी डाइट में कैल्शियम इनटेक बढ़ाने की आवश्यकता है। इसके लिए आप कैल्शियम रिच फूड्स का सेवन करें। इसके अलावा, डॉक्टर की सलाह पर कैल्शियम सप्लीमेंट भी लिए जा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने की ना करें भूल, सेहत को होगा नुकसान

विटामिन डी की ना करें अनदेखी

कुछ लोग सोचते हैं कि हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए केवल कैल्शियम की जरूरत होती है। जबकि ऐसा नहीं है। आपको कैल्शियम के साथ-साथ विटामिन डी पर भी ध्यान देना चाहिए। विटामिन डी शरीर को कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करता है। ऐसे में अगर विटामिन डी कम होगा तो कैल्शियम इनटेक से भी आपको कोई लाभ नहीं होने वाला है। 

जरूर करें व्यायाम

व्यायाम करना संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। यह ना केवल आपके वजन को मेंटेन करने में मददगार है। जब आप वॉकिंग से लेकर योग, रस्सी कूदना, वाटर एरोबिक्स, सीढ़ियां चढ़ना आदि एक्सरसाइज को अपने रूटीन का हिस्सा बनाते हैं तो इससे आपकी हड्डियों को भी मजबूती मिलती है। 

इसे भी पढ़ें: वेट लॉस में मदद करेंगे यह फल, आज ही करें डाइट में शामिल

आहार पर दें ध्यान

सुनिश्चित करें कि आपके आहार में बहुत सारे ताजे फल और सब्जियां, डेयरी उत्पाद, साल्मन, अंडे की जर्दी, बादाम, लीन प्रोटीन, बीन्स, एवोकाडो और जैतून का तेल को अवश्य शामिल करें। इन फूड आइटम्स में मौजूद पोषक तत्व आपकी सेहत के साथ-साथ बोन हेल्थ पर भी सकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

- मिताली जैन

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अन्य न्यूज़