अमेरिकी किशोरी का चीन के खिलाफ बनाया टिक टॉक वीडियो हुआ वायरल, देखें वीडियो

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2019   14:31
अमेरिकी किशोरी का चीन के खिलाफ बनाया टिक टॉक वीडियो हुआ वायरल, देखें वीडियो

अजीज वीडियो में कहती हैं कि यह एक और जनसंहार है लेकिन कोई इस पर बात नहीं कर रहा है। मेहरबानी करें जानकारी रखिए, शिंजियांग के बारे में जागरुकता फैलाइए। इसके बाद वीडियो में वह दोबारा पलकों की सुंदरता के बारे में बात करने लगती हैं।

बीजिंग। अमेरिका की एक किशोरी ने चीन के शिंजियांग में मुसलमानों पर सरकार की कार्रवाई की निंदा करने का एक दिलचस्प तरीका निकाला। दरअसल 17 साल की किशोरी फिरोजा अजीज ने टिक टॉक पर एक वीडियो अपलोड किया जिसकी शुरुआत उसने पलकों को खूबसूरत बनाने का तरीके बताने से की और फिर अचानक लोगों को अपनी आखें खोलने और शिंजियांग के हालात के बारे में जाने और इसके खिलाफ आवाज उठाने की अपील की। 

अजीज ने खुद को ‘‘17 साल का मुसलमान’’ बताया। उसके वीडियो को बुधवार तक लाखों लोग देख चुके हैं। अजीज का कहना है कि चीन की निंदा करने वाला वीडियो अपलोड करने के बाद उस पर एक महीने तक कोई भी वीडियो अपलोड करने पर रोक लगा दी गई है। वीडियो में अजीज कहती है कि पहला काम जो आपको करना है वह यह कि सबसे पहले पलकों को खूबसूरत बनाने वाला कर्लर लेना है। खूबसूरती की बात करते हुए अचानक अजीज कहती हैं कि इसके बाद आप इसे नीचे रखते हैं और आप यह जानने के लिए कि चीन में क्या हो रहा है अपना फोन उठाते हैं। किस प्रकार से वह हिरासत शिविर बनाते हैं, बेगुनाह मुसलमानों को उसमें डाल रहे हैं, परिवारों को अलग कर रहे हैं, उनका अपहरण कर रहे हैं, हत्या कर रहे हैं, बलात्कार कर रहे हैं, उन्हें सुअर का मांस खाने के लिए मजबूर कर रहे हैं, उन्हें धर्मपरिवर्तन के लिए मजबूर कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी रक्षा मंत्री का बयान, कहा- ट्रंप ने दिया था ‘सील’ का दर्जा कायम रखने का आदेश

अजीज वीडियो में कहती हैं कि यह एक और जनसंहार है लेकिन कोई इस पर बात नहीं कर रहा है। मेहरबानी करें जानकारी रखिए, शिंजियांग के बारे में जागरुकता फैलाइए। इसके बाद वीडियो में वह दोबारा पलकों की सुंदरता के बारे में बात करने लगती हैं। कथिततौर पर न्यूयार्क से ताल्लुक रखने वाली अजीज को इससे पहले भी टिक टॉक पर ब्लॉक किया जा चुका है। बहरहाल, टिक टॉक ने इस बात से इनकार किया कि उसके इस प्रोफाइल को ब्लाक किया गया है। एक प्रवक्ता ने एएफपी को बताया कि इस मामले में यूजर का पहला अकांउट और उससे जुड़े यंत्र पर रोक लगा दी गई थी क्योंकि उसने ओसामा बिन लादेन का वीडियो पोस्ट किया था। टिक टॉक उस विषयवस्तु पर रोक लगाता है जो आतंकवादी संगठनों से जुड़ी कल्पनाओं पर आधारित हो।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।