कार्यभार संभालते ही बाइडेन ने की पहली बार कनाडा के पीएम और मेक्सिको के राष्ट्रपति से बात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2021   12:01
कार्यभार संभालते ही बाइडेन ने की पहली बार कनाडा के पीएम और मेक्सिको के राष्ट्रपति से बात

जो बाइडन ने कनाडा के प्रधानमंत्री ट्रूडो और मेक्सिको के राष्ट्रपति ओब्राडोर से बातचीत की है।कनाडा के एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि निजी बातचीत में बाइडन ने ट्रूडो को बताया कि वह आदेश जारी करके चुनाव प्रचार के दौरान किए गए वादे को पूरा कर रहे थे।

वाशिंगटन।अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कार्यभार संभालने के बाद पहली बार कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और मेक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रेस मैनुएल लोपेज ओब्राडोर से फोन पर बातचीत की। यह बातचीत ऐसे समय हुई है जब उत्तर अमेरिका के पड़ोसी देशों के साथ अमेरिका का संबंध तनावपूर्ण हैं। कीस्टोन एक्सएल तेल पाइपलाइन के निर्माण पर रोक लगाने के लिए कार्यकारी आदेश जारी करने के बाद बाडइन की कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से बातचीत हुई है। ट्रूडो ने इस सप्ताह सार्वजनिक तौर पर बाइडन के इस फैसले पर निराशा जाहिर की थी। यह परियोजना लंबे समय से विवाद के घेरे में है। इसके तहत कनाडा के प्रांत अल्बर्टा से करीब 800,000 बैरल तेल को टेक्सास गल्फ कोस्ट तक पहुंचाने की योजना है और इसके मद्देनजर यह पाइपलान मोन्टाना, साउथ डकोटा, नेब्रास्का, कंसास और ओकलाहोमा से होकर गुजरेगी। कनाडा के एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि निजी बातचीत में बाइडन ने ट्रूडो को बताया कि वह आदेश जारी करके चुनाव प्रचार के दौरान किए गए वादे को पूरा कर रहे थे। अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर यह जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: भारत ने अनेक देशों को भेंट किया कोरोना वायारस का टीका, अमेरिका ने सच्चा दोस्त कहकर की तारीफ

वहीं बाइडन ने शुक्रवार को मेक्सिको के राष्ट्रपति आंद्रेस मैनुएल लोपेज ओब्राडोर से बातचीत की। मेक्सिको के राष्ट्रपति ने कुछ दिन पहले ही अमेरिका के मादक पदार्थ प्रवर्तन प्रशासन पर आरोप लगाया था कि यह एजेंसी देश (मेक्सिको) के पूर्व रक्षा मंत्री पर मादक पदार्थ तस्करी के झूठे आरोप लगा रही है। पिछले साल अक्टूबर में लॉस एंजिलिस में पूर्व रक्षा मंत्री जनरल सल्वाडोर कीनफ्यूगोस को गिरफ्तार कर लिया गया गया था। मेक्सिको ने उनकी रिहाई की मांग करते हुए चेतावनी दी थी कि अगर पूर्व रक्षा मंत्री पर लगे आरोप वापस नहीं लिए जाते हैं और उन्हें वापस नहीं भेजा जाता है तो वे मेक्सिको में अमेरिकी अधिकारियों पर भी प्रतिबंध लगा देंगे। लोपेज ने एक बयान में कहा कि बाइडन के साथ बातचीत ‘ मैत्रिपूर्ण और सम्मानजनक’ तरीके से संपन्न हुई। दोनों ने कोविड-19 और आव्रजन समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की। शुक्रवार को बाइडन से बातचीत से पहले ट्रूडो नें संवददाताओं से कहा था कि इस परियोजना पर बाइडन के साथ अपने मतभेदों को वह अमेरिका-कनाडा के बीच तनाव का स्रोत नहीं बनने देंगे। उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ संबंध हमेशा बिल्कुल उत्तम रूप में नहीं रहने जा रहा है और वे बाइडन के साथ काम करने को लेकर आशान्वित हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।