चीन के इन तीन शहरों में कोविड-19 के मामले आए सामने, लाखों लोगों की हुई जांच

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   17:27
चीन के इन तीन शहरों में कोविड-19 के मामले आए सामने, लाखों लोगों की हुई जांच

चीन ने तीन शहरों में कोविड-19 के मामले सामने आने के बाद लाखों लोगों की जांच की।कई विशेषज्ञों और सरकारी अधिकारियों ने आगाह किया है कि सर्दी के मौसम में संक्रमण फैलने का ज्यादा खतरा रहेगा।

बीजिंग। चीन के तीन शहरों में कोरोना वायरस के कुछ मामले सामने आने के बाद लाखों लोगों की जांच की गयी। संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए इन शहरों में स्कूलों को बंद कर दिया गया तथा लोगों के जमावड़े पर पाबंदियां लगायी गयी हैं। अमेरिका और अन्य देशों में संक्रमण की नयी लहर की तुलना में चीन के तिआनजिन, शंघाई और मंझौली शहरों में कम मामलों के बावजूद कोविड-19 को लेकर विभिन्न कदमों की घोषणा की गयी है। कई विशेषज्ञों और सरकारी अधिकारियों ने आगाह किया है कि सर्दी के मौसम में संक्रमण फैलने का ज्यादा खतरा रहेगा।

इसे भी पढ़ें: ऑनलाइन चुने गए ‘अमेरिका रोड्स स्कॉलर्स’, 32 विजेताओं में 4 भारतीय-अमेरिकी छात्र

चीन में संक्रमण पर काबू पा लाने के बावजूद हालिया मामलों के मद्देनजर ऐसी आशंका है कि फिर से बड़े स्तर पर यह फैल सकता है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि पिछले 24 घंटे में शंघाई में संक्रमण के दो मामले आए और शुक्रवार से सात मामले आ चुके हैं। पिछले साल वुहान में संक्रमण का पहला मामला आने के बाद से चीन में कुल 86,442 मामले आए हैं और 4634 लोगों की मौत हुई है। शंघाई में जांच अभियान तेज कर दिया गया है और खासकर हवाई अड्डा, अस्पतालों जैसे स्थानों पर काम करने वाले लोगों की जांच की जा रही है।

इसे भी पढ़ें: सैन जोस के गिरजाघर में हुए हमले से दो लोगों की मौत, कई लोग गंभीर रूप से घायल

तिआनजिन के बिनहाई में पांच मामले सामने आने के बाद स्वास्थ्यकर्मियों ने 22 लाख लोगों के नमूनों की जांच की। मंझौली में दो मामले आने के बाद सभी निवासियों की जांच की जा रही है। इस शहर की आबादी दो लाख से ज्यादा है। शहर में सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है और सार्वजनिक स्थलों पर लोगों के जमावड़े पर भी रोक लगा दी गयी है। तिआनजिन में प्रशासन ने केजी कक्षा को बंद कर दिया और सभी शिक्षकों, परिवारों और छात्रों को पृथक-वास में भेज दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।