श्रीलंका में स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोविड-19 के मामले बढ़ने पर चेतावनी दी

Covid
श्रीलंका में अगस्त-सितबंर के दौरान कोरोना संक्रमण का चरम देखने को मिला था। स्वास्थ्य संवर्धन ब्यूरो के डॉ. रंजीत बटुवनथुडावा ने कहा कि 95 प्रतिशत मामले वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप केहैं

कोलंबो,  श्रीलंका में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने पर स्वास्थ्य विभाग ने चेतावनी जारी की है। देश में शनिवार को टीकाकरण अभियान के एक साल पूरे होने के मौके पर अधिकारियों ने बताया कि 95 फीसदी नए मामलों का कारण वायरस का ओमीक्रोन स्वरूप है। भारत से कोरोना रोधी टीके कोविशील्ड की पांच लाख खुराक प्राप्त करने के बाद श्रीलंका में पिछले साल 29 जनवरी को टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत हुई थी। स्वास्थ्य मंत्रालय में गृह देखभाल पृथकवास कार्यक्रम के प्रमुख डॉ. मलकांथि गल्लागे ने कहा कि इस समय घर पर रह कर इलाज करा रहे संक्रमितों की संख्या अगस्त-सितंबर के मुकबले अधिक है।

श्रीलंका में अगस्त-सितबंर के दौरान कोरोना संक्रमण का चरम देखने को मिला था। स्वास्थ्य संवर्धन ब्यूरो के डॉ. रंजीत बटुवनथुडावा ने कहा कि 95 प्रतिशत मामले वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप केहैं और सामुदायिक प्रसार दिखा है। श्रीलंका में शुक्रवार को कोविड के 961 नए मामले सामने आए थे।

देश में लगातार तीसरे दिन प्रतिदिन के मामलों की संख्या 900 से अधिक रही। श्रीलंका में शुक्रवार तक कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 608,065 थी, जबकि अब तक महामारी से कुल 15,386 लोगों की मौत हुई है। शनिवार को श्रीलंका में बूस्टर टीकाकरण अभियान शुरू किया गया, हालांकि देश में बूस्टर खुराक लगवाने के प्रति लोग काफी अनिच्छुक हैं। श्रीलंका में 1.65 करोड़ लोगों को कोविड टीके की पहली खुराक और 1.38 करोड़ लोगों को दूसरी खुराक लग चुकी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़