भारत, ब्रिटेन मजबूत डिजिटल स्वास्थ्य गठजोड़ बना सकते हैं: मांडविया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 13, 2022   08:00
भारत, ब्रिटेन मजबूत डिजिटल स्वास्थ्य गठजोड़ बना सकते हैं: मांडविया
प्रतिरूप फोटो
ANI Photo.

मांडविया ने कहा, ‘‘टीका अनुसंधान और विनिर्माण पर हमारी साझेदारी न केवल कोविड-19 महामारी का समाधान निकालने की रही है बल्कि इस बात का उदाहरण भी है कि करीबी साझेदारी से क्या हासिल किया जा सकता है।

लंदन|  केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने बृहस्पतिवार को लंदन में आयोजित भारत-ब्रिटेन स्वास्थ्य देखभाल सम्मेलन के अवसर पर कहा कि दोनों देश स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में स्वाभाविक साझेदार हैं और वे डिजिटल स्वास्थ्य के उभरते क्षेत्रों में मजबूत साझेदारी बना सकते हैं।

रॉयल कॉलेज ऑफ फिजीशियन्स के वार्षिक सम्मेलन के चौथे संस्करणको नयी दिल्ली से डिजिटल तरीके से संबोधित करते हुए मांडविया ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका के वैज्ञानिकों द्वारा विकसित टीके के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा उत्पादन किये जाने का तथा भारत में मुख्यालय वाली वॉकहार्ट के ब्रिटेन में टीका उत्पादन का विषय उठाया।

उन्होंने कहा, ‘‘भारत और ब्रिटेन स्वाभाविक साझेदार हैं और उनकी स्वास्थ्य क्षेत्र में साझेदारी का इतिहास है और क्षमता है जो महामारी के दौरान और मजबूत हो गयी।’’

मांडविया ने कहा, ‘‘टीका अनुसंधान और विनिर्माण पर हमारी साझेदारी न केवल कोविड-19 महामारी का समाधान निकालने की रही है बल्कि इस बात का उदाहरण भी है कि करीबी साझेदारी से क्या हासिल किया जा सकता है। भारत और ब्रिटेन स्वास्थ्य क्षेत्र में डिजिटल स्वास्थ्य, जीनोमिक्स, कृत्रिम बुद्धित्ता (एआई) के नये उभरते क्षेत्रों के साथ ही फार्मास्युटिकल के क्षेत्रों में मजबूत साझेदारी को लेकर आशान्वित हो सकते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार ने भारत के चिकित्सा यात्रा के क्षेत्र को बढ़ाने का और इस क्षेत्र, इसकी संभावनाओं, चुनौतियों के विविध पहलुओं को समझने का फैसला किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...