भारत ने छात्रों को वीजा देने में लंबी देरी के मुद्दे को कई देशों के समक्ष उठाया

Visa Issue
Google Creative Commons.
सूत्रों ने बताया कि हजारों भारतीय छात्र ऑफलाइन कक्षाएं लेने के लिए इन देशों में लौटने के लिए संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि संबंधित दूतावासों द्वारा उन्हें वीजा दिए जाने में काफी देरी हो रही है।

नयी दिल्ली|  भारत ने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, ब्रिटेन, अमेरिका, जर्मनी और कई अन्य देशों के समक्ष कॉलेज परिसरों में कक्षाओं को बहाल कराने की मांग कर रहे भारतीय छात्रों को वीजा दिए जाने में लंबे समय से हो रही देरी के मुद्दे को उठाया। सूत्रों ने बताया कि हजारों भारतीय छात्र ऑफलाइन कक्षाएं लेने के लिए इन देशों में लौटने के लिए संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि संबंधित दूतावासों द्वारा उन्हें वीजा दिए जाने में काफी देरी हो रही है।

उन्होंने कहा कि भारतीय पक्ष ने इस मुद्दे को मजबूती से उठाया तथा वीजा आवेदनों का तेजी से निपटारा करने की मांग की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने चर्चा को ‘‘सार्थक’’ बताया।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चेक गणराज्य, जर्मनी, न्यूजीलैंड, पोलैंड, ब्रिटेन तथा अमेरिका के साथ काम कर रहे विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने भारतीय नागरिकों को छात्र वीजा देने के बारे में इन देशों के वरिष्ठ राजनयिकों/मिशनों के प्रमुखों के साथ सार्थक चर्चा की।’’

उन्होंने कहा, ‘‘वे इस प्रक्रिया को आसान बनाने तथा उसमें तेजी लाने पर बातचीत करने पर सहमत हुए क्योंकि छात्रों की आवाजाही परस्पर रूप से लाभकारी रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़