इस्लाम से सनातन की ओर इंडोनेशिया, पूर्व राष्ट्रपति की बेटी अपनाने जा रही हैं हिंदू धर्म

इस्लाम से सनातन की ओर इंडोनेशिया, पूर्व राष्ट्रपति की बेटी अपनाने जा रही हैं हिंदू धर्म

बाली में सुकर्णों हेरीटेज एरिया में हिन्दू धर्म अपनाएंगी। सुकमावती हिन्दू धर्म की सभी परंपराओं से पूरी तरफ वाकिफ हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दादी से प्रभावित होकर सुकमावती हिन्दू धर्म अपनाएंगी। सुकमावती ने खुद कहा कि उन्हें हिन्दू धर्म की काफी जानकारी है।

दुनिया में सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला मुल्क इंडोनेशिया है। इंडोनेशिया में हिन्दू आबादी दो फीसदी से भी कम है। फिर भी वहां की हर चीज पर हिन्दू संस्कृति की छाप दिखती है। इंडोनेशिया के पूर्व राष्ट्रपति सुकर्णों का नाम भी महाभारत से प्रेरित है। लेकिन अब इंडोनेशिया के पूर्व राष्ट्रपति की बेटी आज इस्लाम धर्म छोड़ने वाली हैं। बाली में सुकर्णों हेरीटेज एरिया में हिन्दू धर्म अपनाएंगी। सुकमावती हिन्दू धर्म की सभी परंपराओं से पूरी तरफ वाकिफ हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दादी से प्रभावित होकर सुकमावती हिन्दू धर्म अपनाएंगी। सुकमावती ने खुद कहा कि उन्हें हिन्दू धर्म की काफी जानकारी है। 

इसे भी पढ़ें: इंडोनेशिया के बाली में जोरदार भूकंप: तीन लोगों की मौत; सात अन्य घायल

 ईशनिंदा के आरोप लगे थे 

2018 में कट्टरपंथी इस्लामिक समूहों ने उनके खिलाफ ईशनिंदा की शिकायत दर्ज कराई थी। सुकमावती के खिलाफ एक कविता शेयर किए जाने के बाद ये शिकायत दर्ज कराई गई थी। कट्टरपंथियों ने इस्लाम का अपमान किए जाने का आरोप लगाया। इसके बाद सुकमावती को माफी भी मांगनी पड़ी लेकिन विवाद ने फिर भी उनका पीछा नहीं छोड़ा। कट्टरपंथी अकसर उन्हें निशाना बनाते रहे। 

कौन हैं सुकमावती 

सुकमावती अभी 70 साल की हैं और सुकर्णो की तीसरी बेटी हैं। उनसे छोटी पूर्व राष्‍ट्रपति मेगावती सुकर्णोपुत्री हैं। वह इंडोनेशिया नैशनल पार्टी की संस्‍थापक भी हैं। उन्‍होंने कांजेंग गुस्‍ती पानगेरान अदिपति आर्या से शादी की थी लेकिन वर्ष 1984 में उनका तलाक हो गया था।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...