Jaishankar ने कहा कि भारत ने मालदीव में खेल के बुनियादी ढांचे के लिए 40 मिलियन डॉलर की सुविधा प्रदान की है

Jaishankar
प्रतिरूप फोटो
ANI
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की ‘‘फिट इंडिया’’ और ‘‘खेलो इंडिया’’ जैसी महत्वपूर्ण पहल को ‘‘पड़ोसी पहले’’ नीति के दायरे में लाने के लिए भारत के प्रयास के तहत यह सुविधा प्रदान की गई है।

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत ने मालदीव में खेल के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए चार करोड़ डॉलर की रियायती ऋण सुविधा दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की ‘‘फिट इंडिया’’ और ‘‘खेलो इंडिया’’ जैसी महत्वपूर्ण पहल को ‘‘पड़ोसी पहले’’ नीति के दायरे में लाने के लिए भारत के प्रयास के तहत यह सुविधा प्रदान की गई है। जयशंकर ने शावियानी फोकैधू में एक सामुदायिक परियोजना का उद्घाटन किया। उनके साथ मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद भी थे।

जयशंकर भारत के प्रमुख समुद्री पड़ोसी के साथ द्विपक्षीय संबंधों को और विस्तार देने के लिए मालदीव की यात्रा पर थे। जयशंकर ने कहा, ‘‘ समर्पित रियायती चार करोड़ डॉलर लाइन ऑफ क्रेडिट के माध्यम से द्वीपों में खेल के बुनियादी ढांचे का विकास किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यहां मैं यह भी जोड़ दूं कि भारत में दो अभियान चलाए जा रहे हैं जिन्हें प्रधानमंत्री बढ़ावा दे रहे हैं। इनमें एक- फिट इंडिया है, जो हम सभी को फिट रहने के लिए प्रोत्साहित करता है। दूसरा-‘खेलो इंडिया’ है, जो युवाओं को खेलों में भाग लेने के लिए प्रेरित करता है।’’

जयशंकर ने कहा, ‘‘आज मेरे लिए, ‘फिट इंडिया’ और ‘खेलो इंडिया’ को अपनी पड़ोस पहले नीति में शामिल करने का एक जरिया है और हम निश्चित रूप से सामाजिक रूप से अधिक सक्रिय, शारीरिक रूप से सक्रिय दक्षिण एशिया देखना चाहेंगे।’’ देश में जमीनी स्तर पर खेल और फिटनेस संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए मोदी नीत सरकार द्वारा ‘फिट इंडिया’ और ‘खेलो इंडिया’ की शुरुआत की गई थी। शावियानी फोकैधू में सामुदायिक केंद्र उन 45 परियोजनाओं का हिस्सा है, जिसे भारत मालदीव सरकार की भागीदारी से तैयार कर रहा है। इनमें से 23 परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़