जयशंकर ने अर्जेटीना के विदेश मंत्री के साथ बातचीत की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2022   07:58
जयशंकर ने अर्जेटीना के विदेश मंत्री के साथ बातचीत की
ANI Images.

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘आज शाम नाइजीरिया के विदेश मंत्री ज्योफ्रे ओन्यामा से मिलकर खुशी हुई। स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचे, शिक्षा, कृषि और क्षमता निर्माण पर ध्यान केंद्रित करते हुए हमारी विकास साझेदारी का विस्तार करने पर सहमत हुए। साथ ही अधिक व्यापार और निवेश की बात की।’’

नयी दिल्ली|  विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को अर्जेंटीना और नाइजीरिया के अपने समकक्षों के साथ अलग-अलग वार्ता की। यह वार्ता विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों पर केंद्रित थी।

जयशंकर ने फिलीपीन के विदेश मामलों के सचिव टेडी लोक्सिन जूनियर के साथ भी बातचीत की, जिसमें द्विपक्षीय मुद्दों के अलावा म्यांमा की स्थिति और यूक्रेन युद्ध का मुद्दा शामिल था। विदेशी नेता तीन दिवसीय रायसीना डायलॉग (भारत के प्रमुख विदेश नीति और भू-अर्थशास्त्र सम्मेलन) में हिस्सा लेने के लिए भारत की यात्रा पर हैं। रायसीना डायलॉग सोमवार से शुरू हो रहा है।

जयशंकर ने एक ट्वीट में अर्जेंटीना के विदेश मंत्री सैंतियागो कैफिएरो के साथ अपनी बैठक को ‘उपयोगी’ बताया और कहा कि चर्चा में व्यापार, रक्षा और परमाणु ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में सहयोग का मुद्दा शामिल रहा। जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘भारत की पहली यात्रा पर आए अर्जेंटीना के विदेश मंत्री सैंतियागो कैफिएरो के साथ एक उपयोगी बैठक की।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे द्विपक्षीय व्यापार का विस्तार करने और कृषि, फार्मास्यूटिकल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, ई-मोबिलिटी, रक्षा और परमाणु ऊर्जा में सहयोग करने पर चर्चा की। जी-20 और बहुपक्षीय मंचों में मिलकर काम करेंगे।’’ जयशंकर ने यह भी कहा कि कैफिएरो भारत के साथ एक पारिवारिक संबंध साझा करते हैं। विदेश मंत्री ने कहा, ‘‘कैफिएरो के दादा ने 1951 में भारत के साथ ‘जूट फॉर व्हीट’ समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। उनसे इस परंपरा को आगे बढ़ाने की उम्मीद करते हैं।’’ नाइजीरियाई विदेश मंत्री ज्योफ्रे ओन्यामा के साथ अपनी बातचीत के बारे में जयशंकर ने कहा कि स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचे, शिक्षा और कृषि पर ध्यान देने के साथ विकास साझेदारी का विस्तार करने पर सहमति बनी है।

जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘आज शाम नाइजीरिया के विदेश मंत्री ज्योफ्रे ओन्यामा से मिलकर खुशी हुई। स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचे, शिक्षा, कृषि और क्षमता निर्माण पर ध्यान केंद्रित करते हुए हमारी विकास साझेदारी का विस्तार करने पर सहमत हुए। साथ ही अधिक व्यापार और निवेश की बात की।’’

टेडी लोक्सिन जूनियर के साथ अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए जयशंकर ने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की गई। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘फिलीपीन के विदेश मामलों के सचिव टेडी लोक्सिन का गर्मजोशी से स्वागत किया। हिंद-प्रशांत, यूरोप, म्यांमा, यूक्रेन और बहुपक्षवाद पर उनके दृष्टिकोण की सराहना की।’’ विदेश मंत्री ने कहा, ‘‘फरवरी में हमारी पिछली बैठक के बाद से द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति की समीक्षा की।’’

एक ट्विटर उपयोगकर्ता द्वारा फिलीपीन में पढ़ाई दोबारा शुरू करने के लिए भारतीय छात्रों की वापसी सुनिश्चित करने में मदद मांगे जाने पर लोक्सिन जूनियर ने कहा कि इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हां, विदेश मंत्री जयशंकर और मैंने इस पर चर्चा की। जब हम ट्वीट कर रहे हैं, तब भी इस पर काम किया जा रहा है। मैं इसमें तेजी लाऊंगा। सम्मान की बात है कि वे पढाई के लिए मेरे देश आते हैं।’’

लोक्सिन जूनियर की टिप्पणी के जवाब में जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘भारतीय छात्रों के लिए लोक्सिन जूनियर की सहानुभूति की सराहना करता हूं। वीजा प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए तत्पर हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...