सांसद की मांग- ताज महल की तरह अमेरीकी नेशनल पार्क में एंट्री के लिए विदेशी दें अधिक शुल्क

taz mahal
अमेरिका के एक प्रभावशाली सांसद ने माइक एंजी ने पेश किया, जिसका उद्देश्य अमेरिका के कई शीर्ष स्मारकों और राष्ट्रीय उद्यानों के रखरखाव के लिए धन एकत्र करना है। सांसद ने कहा कि राष्ट्रीय उदयान सेवा के अनुसार उद्यानों के लंबित रखरखाव के काम के लिए करीब 12 अरब डॉलर की आवश्यकता है।

वाशिंगटन। अमेरिका के एक प्रभावशाली सांसद ने देश के राष्ट्रीय उद्यानों में प्रवेश के लिए विदेशी पर्यटकों से 16 से 25 डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लेने का कानून बनाने की मांग की और तर्क दिया कि भारत ताज महल जैसे स्मारकों में प्रवेश के लिए यही करता है। ‘ग्रेट अमेरिकन आउटडोर अधिनियम’ में संसोधन का यह प्रस्ताव सांसद माइक एंजी ने पेश किया, जिसका उद्देश्य अमेरिका के कई शीर्ष स्मारकों और राष्ट्रीय उद्यानों के रखरखाव के लिए धन एकत्र करना है। सांसद ने कहा कि राष्ट्रीय उदयान सेवा के अनुसार उद्यानों के लंबित रखरखाव के काम के लिए करीब 12 अरब डॉलर की आवश्यकता है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ ने द्विपक्षीय सहयोग पर नेपाल से की बातचीत

पिछले वर्ष राष्ट्रीय उद्यान सेवा का बजट 4.1 अरब डॉलर था। एंजी ने कहा, “इस संसोधन के अनुसार विदेशी पर्यटकों को देश में प्रवेश के समय ही इन उद्यानों का लुत्फ उठाने के लिए 16 से 25 डॉलर अधिक का भुगतान करना होगा। पिछले कई समय से इन उद्यानों में आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या बढ़ी है।” उन्होंने कहा, “उदाहरण के तौर पर, भारत में ताज महल देखने जाने वाले विदेशी पर्यटकों को 18 डॉलर का भुगतान करना पड़ता है जबकि स्थानीय लोगों को 56 सेंट देना होता है। वहीं दक्षिण अफ्रीका के क्रूगर राष्ट्रीय उद्यान में विदेशी पर्यटकों को 25 डॉलर का भुगतान करना होता है जबकि स्थानीय लोग केवल 6.25 डॉलर देते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़