जासूसी की दुनिया में हो रहे बदलावों पर चीन-रूस को लेकर MI 6 प्रमुख की चेतावनी, AI पर महारत हासिल करने की दौड़

जासूसी की दुनिया में हो रहे बदलावों पर चीन-रूस को लेकर MI 6 प्रमुख की चेतावनी, AI पर महारत हासिल करने की दौड़

रूसी और चीनी ख़ुफ़िया एजेंसियां, जिन्होंने पश्चिमी ख़ुफ़िया एजेंसियों की तुलना में तेज़ दर पर परिष्कृत तकनीकों की एक विस्तृत श्रृंखला का उपयोग किया है, पश्चिम के जासूसों के लिए विशेष चिंता का विषय हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, क्‍वांटम कंप्‍यूट‍िंग, सिंथेटिक बॉयोलॉजी पर महारत हासिल करने के लिए ये जमकर पैसा बहा रहे हैं।

ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी एमआई 6 के प्रमुख ने जासूसी क्षेत्र में तेजी से हो रहे बदलाव की ओर इशारा करते हुए दुनिया को आगाह किया है। एमआई 6 के प्रमुख रिचर्ड मूर के अनुसार चीन और रूस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में महारत हासिल करने के अपने प्रयासों को तेज कर रहे हैं और ये आने वाले दशक में जियो-पॉलिटिक्स को पूरी तरह से बदल कर रख देगा। एमआई 6 के रूप में जानी जाने वाली गुप्त खुफिया सेवा के प्रमुख रिचर्ड मूर के भाषण के कुछ अंश ब्रिटिश सरकार द्वारा जारी किए गए। जिसके अनुसार क्वांटम इंजीनियरिंग, इंजीनियर जीव विज्ञान, और कंप्यूटर शक्ति में प्रगति और कैसे ये एक खतरा पेश कर सकता हैं जैसे विषयों पर बात रखेंगे।

इसे भी पढ़ें: भूटान से चीन क्या चाहता है? इससे भारत के भू-राजनीतिक हित कैसे होंगे प्रभावित

2020 में MI6 प्रमुख बने मूर के अनुसार अगले दशक में तकनीकी प्रगति पिछली सदी में किए गए हर तकनीकी विकास को पीछे छोड़ देगी। एक समाज के रूप में, हमने अभी तक इस कठोर तथ्य और वैश्विक भू-राजनीति पर इसके संभावित प्रभाव को आंतरिक रूप से स्वीकार नहीं किया है। रूसी और चीनी ख़ुफ़िया एजेंसियां, जिन्होंने पश्चिमी ख़ुफ़िया एजेंसियों की तुलना में तेज़ दर पर परिष्कृत तकनीकों की एक विस्तृत श्रृंखला का उपयोग किया है, पश्चिम के जासूसों के लिए विशेष चिंता का विषय हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, क्‍वांटम कंप्‍यूट‍िंग, सिंथेटिक बॉयोलॉजी पर महारत हासिल करने के लिए ये जमकर पैसा बहा रहे हैं और उनका ऐसा करने का इरादा भी है। वे (चीन और रूस) यह जानते हैं कि इन तकनीकों पर महारत हासिल करना उन्‍हें मदद कर सकता है।' पश्चिमी देश चिंतित है कि बीजिंग दशकों के भीतर सभी उभरती प्रौद्योगिकियों पर हावी हो जाएगा, जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, सिंथेटिक जीव विज्ञान और आनुवंशिकी शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: चीन-उत्तर कोरिया ने की कोई ऐसी-वैसी हरकत तो घर में घुसकर मारेगा जापान, किशिदा ने अपने ऐलान से दुनिया को किया हैरान

1991 में सोवियत संघ के विघटन के साथ ही शीतयुद्ध की समाप्ति हो गई। लेकिन पिछले चार दशकों में  चीन की अर्थव्यवस्था और सेना का उदय 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण भू-राजनीतिक घटनाओं में से एक माना जाता है। MI6, जिसे उपन्यासकारों ने जॉन ले कैर के जॉर्ज स्माइली से लेकर इयान फ्लेमिंग के जेम्स बॉन्ड तक, कुछ सबसे यादगार काल्पनिक जासूसों के नियोक्ता के रूप में चित्रित किया है, विदेशों में संचालित होता है और यूनाइटेड किंगडम और उसके हितों की रक्षा के लिए जिम्मेदार है।