• नवाज शरीफ की स्थिति नाजुक, प्लेटलेट फिर कम हुआ: निजी चिकित्सक

पीएमएल..एन महासचिव एहसान इकबाल ने शरीफ को बेहतर इलाज के लिए लंदन भेजने के बारे में बुधवार को कहा कि चिकित्सकों का सबसे पहला प्रयास उनकी स्थिति स्थिर करना है।

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के स्वास्थ्य की स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है क्योंकि उनका प्लेटलेट काउंट फिर कम हो गया है। इससे एक दिन पहले यह बढ़कर 51000 हो गया था। यह जानकारी उनके निजी फिजिशियन ने शनिवार को दी। 69 वर्षीय शरीफ का प्लेटलेट काउंट कम होकर 2000 तक हो गया था जिसके बाद उन्हें सोमवार रात में सर्विसेज हास्पिटल में भर्ती कराया गया था। शरीफ भ्रष्टाचार निरोधक इकाई की हिरासत में थे।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सेहत में सुधार

बृहस्पतिवार को पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल..एन) प्रमुख के स्वास्थ्य में कुछ सुधार हुआ और उनका प्लेटलेट काउंट 35000 से बढ़कर 51000 हो गया। अदनान खान ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की स्थिति नाजुक बनी हुई है। उनका इलाज करने वाले चिकित्सकों ने उन्हें दिये जाने वाले स्टेरायड की खुराक कम करने का प्रयास किया लेकिन दुर्भाग्य से इसका परिणाम यह हुआ कि कल उनका प्लेटलेट एक बार फिर कम हो गया। ‘जियो न्यूज’ की खबर के अनुसार चिकित्सक ने कहा कि प्लेटलेट काउंट में गिरावट के कारण का पता लगाना जरूरी है और यह जल्दी किया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: शरीफ के बाद पाक के पूर्व PM शाहिद खाकान अब्बासी भी जेल में बीमार पड़े

मंगलवार को चिकित्सक ने ट्वीट करके कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री का स्वास्थ्य नाजुक स्थिति में है और वह अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने मंगलवार को भ्रष्टाचार मामले में शरीफ की सजा आठ सप्ताह के लिए निलंबित कर दी थी जिससे चिकित्सकीय आधार पर उनकी रिहायी का मार्ग प्रशस्त हो गया था। शरीफ ने चौधरी चीनी मिल से जुड़े धनशोधन मामले में लाहौर उच्च न्यायालय से पहले ही जमानत प्राप्त कर ली है।

इसे भी पढ़ें: पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तबीयत और खराब हुई

पीएमएल..एन महासचिव एहसान इकबाल ने शरीफ को बेहतर इलाज के लिए लंदन भेजने के बारे में बुधवार को  कहा कि चिकित्सकों का सबसे पहला प्रयास उनकी स्थिति स्थिर करना है। इकबाल ने कहा कि एक बार उनकी स्थिति स्थिर होने पर उनके विदेश जाने का सवाल उठेगा और उस पर निर्णय किया जाएगा। खबर के अनुसार पीएमएल..एन के एक अन्य नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि शरीफ स्वयं यह निर्णय करेंगे कि वह विदेश में इलाज कराना चाहते हैं या नहीं।