संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच पाकिस्तान में शैक्षणिक संस्थान फिर से बंद किये गए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   17:47
संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच पाकिस्तान में शैक्षणिक संस्थान फिर से बंद किये गए

कोविड-19 के मद्देनजर पाकिस्तान में शैक्षणिक संस्थान फिर से बंद किये गए।पाकिस्तान के शिक्षा मंत्रियों की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया। संघीय शिक्षा मंत्री शफकत महमूद ने चारों प्रांत के शिक्षा मंत्रियों और पाक के कब्जे वाले कश्मीर तथा गिलगित बल्तिस्तान के प्रतिनिधियों की बैठक की अध्यक्षता की।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में कोविड-19 में मामलों में वृद्धि के मद्देनजर सभी शैक्षणिक संस्थानों को 26 नवंबर से 10 जनवरी तक फिर से बंद करने का निर्णय सोमवार को लिया गया। गौरतलब है कि दो महीने से कुछ दिन पहले ही स्कूल कालेज खोले गए थे। देश में अब तक 3.7 लाख लोग कोरोना वायरस संक्रमण के शिकार हो चुके हैं और 7,700 मरीज कोविड-19 से अपनी जान गंवा चुके हैं। पाकिस्तान के शिक्षा मंत्रियों की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया। संघीय शिक्षा मंत्री शफकत महमूद ने चारों प्रांत के शिक्षा मंत्रियों और पाक के कब्जे वाले कश्मीर तथा गिलगित बल्तिस्तान के प्रतिनिधियों की बैठक की अध्यक्षता की।

इसे भी पढ़ें: ऑनलाइन चुने गए ‘अमेरिका रोड्स स्कॉलर्स’, 32 विजेताओं में 4 भारतीय-अमेरिकी छात्र

महमूद ने कहा, “निर्णय लिया गया है कि सभी स्कूल, कालेज तथा विश्वविद्यालय ऑनलाइन माध्यम से पठन पाठन जारी रखेंगे और सभी शैक्षणिक संस्थानों को 26 नवंबर से 24 दिसंबर तक बंद रखा जाएगा।” उन्होंने कहा, “सर्दी की छुट्टियां 25 दिसंबर से 10 जनवरी तक होंगी। संस्थान 11 जनवरी को खुलेंगे। लेकिन जनवरी के पहले सप्ताह में स्थिति की समीक्षा के लिए बैठक की जाएगी।” महामारी की शुरुआत में बंद किये गए शैक्षणिक संस्थानों को छह महीने बाद 15 सितंबर को खोला गया था।

इसे भी पढ़ें: सैन जोस के गिरजाघर में हुए हमले से दो लोगों की मौत, कई लोग गंभीर रूप से घायल

मंत्री ने कहा कि परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं और जनवरी में संस्थान खुलने के बाद इनका आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि प्रवेश परीक्षाएं तय समय पर होंगी। पाकिस्तान में पिछले चौबीस घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,756 नए मामले सामने आए जिसके बाद सोमवार को कुल मामले बढ़कर 3,76,929 हो गए। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने कहा कि महामारी से 34 और मरीजों की मौत हो गई जिसके बाद मृतकों की संख्या 7,696 पर पहुंच गई। कम से कम 3,30,885 मरीज ठीक हो चुके हैं और 1,677 मरीजों की हालत नाजुक है। देश में अभी 38,348 मरीज उपचाराधीन हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।