बांग्लादेश में बड़ा हादसा, महालया उत्सव मनाने मंदिर जा रहे थे यात्री, 24 की मौत, 30 लापता

Bangladesh
ANI
अभिनय आकाश । Sep 25, 2022 7:48PM
दुर्घटना बोडा उपजिला की मारिया यूनियन परिषद के औलियार घाट क्षेत्र में हुई। बचाए गए यात्रियों और स्थानीय लोगों के अनुसार, बोडा, पंचपीर, मारिया और बंगारी क्षेत्रों के हिंदू समुदाय के लोग महालय के अवसर पर देवी दुर्गा की पूजा करने के लिए औलिया घाट से बादेश्वर मंदिर की ओर जा रहे थे।

बांग्लादेश के उत्तरी जिले पंचागढ़ में एक नाव के पलट जाने से कम से कम 24 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। ढाका ट्रिब्यून के अनुसार, कम से कम 30 लोग अभी भी लापता हैं और मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।  घटना की जानकारी रविवार दोपहर मारिया यूनियन के औलिया घाट से हुई पंचगढ़ के उपायुक्त जहीरुल इस्लाम ने पुष्टि की। ढाका से गोताखोरों का एक दल और शवों की तलाश के लिए नदी में छानबीन कर रहा था। ढीले सुरक्षा मानकों और ओवरलोडिंग के कारण बांग्लादेश में नाव दुर्घटनाएं आम हैं। चूंकि बांग्लादेश शक्तिशाली नदियों - गंगा और ब्रह्मपुत्र के निचले मार्ग पर स्थित है, देश 230 नदियों से घिरा हुआ है। पिछले साल दिसंबर में एक यात्री नौका के एक मालवाहक जहाज से टकराने और डूबने से लगभग 37 लोग डूब गए थे।

इसे भी पढ़ें: बांग्लादेश : पिछले साल की हिंसा के बाद कोमिल्ला में शांतिपूर्ण दुर्गापूजा मनाने की चल रही तैयारी

दुर्घटना बोडा उपजिला की मारिया यूनियन परिषद के औलियार घाट क्षेत्र में हुई। बचाए गए यात्रियों और स्थानीय लोगों के अनुसार, बोडा, पंचपीर, मारिया और बंगारी क्षेत्रों के हिंदू समुदाय के लोग महालय के अवसर पर देवी दुर्गा की पूजा करने के लिए औलिया घाट से बादेश्वर मंदिर की ओर जा रहे थे। नाव ने अपनी क्षमता से अधिक यात्रियों को सवार कर लिया था। जिसके कारण बीच दोपहर करातोया नदी के मध्य में जाने के बाद नाव पलट गई। हालांकि कई यात्री तैरकर किनारे पर आ गए, लेकिन अधिकांश लोग अभी भी लापता हैं।

इसे भी पढ़ें: भारत से लौटने के बाद बोली बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना, कहा- ‘मैं खाली हाथ नहीं लौटी हूं’

सूचना मिलते ही पंचगढ़ के उपायुक्त मोहम्मद जहूरुल इस्लाम मौके पर पहुंचे। उपायुक्त ने कहा कि नाव यात्रियों से खचाखच भरी होने के कारण 24 लोग डूब गए। इस्लाम ने कहा, "अब तक बरामद किए गए शवों में महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।" बोडा थाने के प्रभारी अधिकारी सुजॉय कुमार रॉय ने कहा कि लापता लोगों को बचाने के लिए तलाशी अभियान जारी है। बचाए गए यात्रियों और स्थानीय लोगों ने लापता लोगों की संख्या 30 से अधिक आंकी है। घटना की जांच के लिए पांच सदस्यीय टीम बनाई गई है।

अन्य न्यूज़