सिंगापुर: ‘बार परीक्षा धोखाधड़ी’ मामले में भारतीय मूल के तीन प्रशिक्षु वकील नामजद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2022   10:37
सिंगापुर: ‘बार परीक्षा धोखाधड़ी’ मामले में भारतीय मूल के तीन प्रशिक्षु वकील नामजद
PRABHASAKSHI

‘बार परीक्षा धोखाधड़ी’ में भारतीय मूल के तीन प्रशिक्षु वकीलों की संलिप्तता सामने आई है, जिन्होंने अपनी ‘बार’ (विधि) परीक्षा में नकल करने और कदाचार की बात पिछले साल स्वीकार की थी।

सिंगापुर। ‘बार परीक्षा धोखाधड़ी’ में भारतीय मूल के तीन प्रशिक्षु वकीलों की संलिप्तता सामने आई है, जिन्होंने अपनी ‘बार’ (विधि) परीक्षा में नकल करने और कदाचार की बात पिछले साल स्वीकार की थी। ‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ की खबर के अनुसार, परीक्षा धोखाधड़ी मामले में अभी तक कुल छह लोगों की संलिप्तता का पता चला है, जिनमें से तीन भारतीय मूल के प्रशिक्षु वकील हैं। इन्होंने 2020 में इसकी पार्ट-बी की परीक्षा दी थी, जो उस साल नवंबर और दिसंबर के बीच हुई थी।

इसे भी पढ़ें: 3 साल पहले इस्तीफा देकर शुरू की राजनीति और हुए फ्लॉप, सरकार ने आईएएस अधिकारी फैसल को किया बहाल

खबर के अनुसार, भारतीय मूल की प्रशिक्षु वकील मोनिशा देवराज, कुशल अतुल शाह और श्रीराम रविंद्रन के साथ-साथ चीन के मैथ्यू चाउ जून फेंग और लियोनेल वोंग चोंग यूंग को मामले में आरोपी बनाया गया है। इनके अलावा लिन कुएक यी टिंग ने शुरू में नकल करने की बात से इनकार किया था, लेकिन उसके स्पष्टीकरण को खारिज कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: 52 साल बाद दिल्ली में पड़ रही है भीषण गर्मी, जलती 'लू' के साथ 3 मई तक आग उगलेगा आसमान

न्यायमूर्ति चू हान टेक ने बुधवार को इन नामों को सार्वजनिक करने से रोकने के अपने पूर्व के आदेश को रद्द कर दिया। बुधवार को ही इन छह प्रशिक्षु वकीलों को ‘बार परीक्षा’ में नकल करने के लिए नामजद किया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।