रूस से रियायती तेल खरीदने के विकल्प तलाश रहा है श्रीलंकाः मंत्री

Sri Lanka
Google Creative Commons.
श्रीलंका सरकार ने पिछले हफ्ते कच्चे तेल की खरीद के लिए रूसी दूतावास द्वारा सुझाई गई कई कंपनियों से संपर्क साधा था। इस बीच श्रीलंका में पेट्रोल की कीमत में 50 श्रीलंकाई रुपये और डीजल की कीमतों में 60 श्रीलंकाई रुपये की बढ़ोतरी की गई है।

कोलंबो| आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के एक वरिष्ठ मंत्री ने रविवार को कहा कि उनका देश रूस से रियायती दर पर तेल खरीदने के विकल्प तलाश रहा है।

इस बीच श्रीलंका में दो महीने में तीसरी बार पेट्रोल एवं डीजल के दाम बढ़ा दिए गए हैं। विदेशी मुद्रा भंडार की भारी कमी के कारण ईंधन की भारी किल्लत का सामना कर रहे श्रीलंका के बिजली एवं ऊर्जा मंत्री कंचन विजयशेखरा ने कहा कि सरकार रूस से तेल खरीदने के विकल्प तलाश रही है।

इसके लिए श्रीलंका राजनयिक माध्यमों की तलाश कर रहा है। उन्होंने ईंधन लेकर आने वाले जहाज के आने में देरी पर पत्रकारों से कहा, ‘‘श्रीलंका आने वाला पिछला जहाज एक रूसी जहाज था।

हमारे पहले ऋण पत्र को अंतरराष्ट्रीय बैंकों ने इसलिए खारिज कर दिया, क्योंकि उस जहाज का स्वामित्व एक रूसी कंपनी के पास था।’’ उन्होंने कहा कि दो मंत्री ईंधन और अन्य राजनयिक मामलों पर चर्चा करने के लिए सोमवार को रूस की यात्रा पर जाने वाले हैं।

श्रीलंका सरकार ने पिछले हफ्ते कच्चे तेल की खरीद के लिए रूसी दूतावास द्वारा सुझाई गई कई कंपनियों से संपर्क साधा था। इस बीच श्रीलंका में पेट्रोल की कीमत में 50 श्रीलंकाई रुपये और डीजल की कीमतों में 60 श्रीलंकाई रुपये की बढ़ोतरी की गई है।

पिछले दो महीनों में तीसरी बार ईंधन की कीमतें बढ़ाई गई हैं। सार्वजनिक क्षेत्र के ईंधन विक्रेता सीलोन पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (सीपीसी) ने कहा कि कीमतों में बढ़ोतरी रविवार रात दो बजे से लागू हो गई है। लंका आईओसी ने भी इसी अनुपात में कीमतों में बढ़ोतरी की है।

इस बढ़ोतरी के साथ पेट्रोल की कीमत 470 श्रीलंकाई रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 460 श्रीलंकाई रुपये प्रति लीटर हो गई है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़