अफगानिस्तान में छूटे अमेरिका के खतरनाक हथियार कहां गए? इस देश में हो रही स्मगलिंग

afghnaistan
Unsplash
निधि अविनाश । Jun 30, 2022 4:17PM
तालिबान जिसे यह हथियार बेच रहा है वो देश और कोई नहीं बल्कि खुद पाकिस्तान है। सूत्रों के मुताबिक, अफगानिस्तान के जाबुल प्रांत की खुली मार्केट में अमेरिका के बड़े-बड़े हथियार बहुत ही आसानी से बिकते हुए नजर आ रहे है। इन हथियारों को स्मगलिंग के जरिए पाकिस्तान पहुंचाया जा रहा हैं।

पिछले साल अमेरिका ने जब अफगानिस्तान छोड़ा था तो कुछ बड़े हथियार वहीं रह गए थे। अब सवाल यह है कि छुटे हुए हथियार वहीं है या लापता हो गए हैं? इसको लेकर अब बहुत बड़ा खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अफगानिस्तान की सत्ता पर बैठे तालिबानी अब अमेरिका के बचे हथियारों को बेचने में लगा हुआ है। आपको जानकर बड़ी हैरानी होगी लेकिन तालिबान जिसे यह हथियार बेच रहा है वो देश और कोई नहीं बल्कि खुद पाकिस्तान है। सूत्रों के मुताबिक, अफगानिस्तान के जाबुल प्रांत की खुली मार्केट में अमेरिका के बड़े-बड़े हथियार बहुत ही आसानी से बिकते हुए नजर आ रहे है। इन हथियारों को स्मगलिंग के जरिए पाकिस्तान पहुंचाया जा रहा हैं।

इसे भी पढ़ें: इजराइल की संसद भंग, 4 साल में पांचवीं बार देश में होंगे आम चुनाव, क्या दोबोरा बेंजामिन नेतन्याहू की होगी वापसी

अफगानिस्तान में कार्यरत पाकिस्तान मीडिया के मुताबिक, तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद सरकारी सेना हजारों असॉल्ट राइफलें, बुलेट प्रूफ जैकेट, हेलमेट, मशीनगन और दूसरे हथियारों पर कब्जा कर लिया था। इन हथियारों को अब तालिबान के कमांडर जाबुल प्रांत की खुली मार्केट में बेच रहे हैं। इन हथियारों को खरीदकर पाकिस्तान पहुंचा दिया जाता है। इस बीच दक्षिण कंधार प्रांत में के लड़ाकों ने कई बड़े हथियार पकड़े हैं। इन हथियारों को स्मगलिंग करके पाकिस्तान पहुंचाया जा रहा है। इन हथियारों में एके-47 राइफलें, हजारों गोलियां और 19 रॉकेट लॉन्चर शामिल हैं। इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं मुल्ला अब्दुल गनी ने इस बात से इनकार कर दिया कि पाकिस्तान को हथियार पहुंचाने के मामले में तालिबान कमांडरों का कोई हाथ है। उन्होंने कहा कि ये हथियार अफगानिस्तान की संपत्ति हैं और इन्हें किसी भी सूरत में देश से बाहर नहीं ले जाने दिया जाएगा।

अन्य न्यूज़