हमले को सही ठहराने के लिए पुतिन ऐसे खतरों का निर्माण कर रहे जिनका अस्तित्व नहीं: व्हाइट हाउस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 28, 2022   07:48
हमले को सही ठहराने के लिए पुतिन ऐसे खतरों का निर्माण कर रहे जिनका अस्तित्व नहीं: व्हाइट हाउस

यूक्रेन पर हमला करने के लिए अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने रूस पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं। साकी ने कहा कि यह प्रतिबंध ईरान पर लगाई गई पाबंदियों के समान हैं और इससे रूस की बैंकिंग व्यवस्था वैश्विक समुदाय से कट जाएगी।

वाशिंगटन| व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने रविवार को कहा कि यूक्रेन पर हमले को सही ठहराने के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ऐसे खतरों का निर्माण कर रहे हैं जो अस्तित्व में नहीं हैं। इसके साथ ही साकी ने कहा कि अमेरिका इसके खिलाफ खड़ा होगा और मास्को के विरुद्ध ऊर्जा संबंधी प्रतिबंध भी लगाए जा सकते हैं।

यूक्रेन पर हमला करने के लिए अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने रूस पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं। साकी ने कहा कि यह प्रतिबंध ईरान पर लगाई गई पाबंदियों के समान हैं और इससे रूस की बैंकिंग व्यवस्था वैश्विक समुदाय से कट जाएगी।

उन्होंने कहा, “हमने उनके 80 प्रतिशत बैंकों और वित्तीय क्षेत्र पर प्रतिबंध लगा दिए हैं। इससे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और रूसी सरकार को न केवल व्यवसाय करने में कठिनाई होगी बल्कि अपने देश के सैन्य विस्तार में भी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। इसलिए हमने पहले ही कड़े कदम उठाये हैं। आगे भी ऐसे कदम उठाने पर विचार किया जा सकता है।”

एक सवाल के जवाब में साकी ने कहा कि रूस पर ऊर्जा संबंधी प्रतिबंध लगाने का विकल्प भी है।

साकी ने एबीसी न्यूज के साथ बातचीत में कहा, “राष्ट्रपति पुतिन हमले को सही ठहरने के लिए ऐसे खतरों का निर्माण कर रहे हैं जो अस्तित्व में नहीं हैं। वैश्विक समुदाय और अमेरिकी लोगों को इसे उसी तरह देखना चाहिए। हमने उन्हें (पुतिन) ऐसा कई बार करते देखा है।”

उन्होंने कहा, “रूस को नाटो या यूक्रेन से कभी खतरा नहीं था। यह सब राष्ट्रपति पुतिन का तरीका है और हम इसके विरुद्ध खड़े होंगे। हमारे अंदर खुद की रक्षा करने की क्षमता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।