चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की राजनीतिक विचारधारा को अब स्कूल और कॉलेजों में पढ़ाया जाएगा

china
नए पाठ्यक्रम के अनुसार प्राथमिक विद्यालय देश, सीपीसी और समाजवाद के लिए प्रेम पर ध्यान केंद्रित करेंगे। वहीं, माध्यमिक विद्यालयों के पाठ्यक्रम में बुनियादी राजनीतिक निर्णयों और मतों से छात्रों की मदद करने के लिए प्रत्यक्ष बोधात्मक अनुभव और ज्ञान अध्ययन शामिल होगा।

बीजिंग।भविष्य में देश की सत्ता पर कम्युनिस्ट पार्टी की पकड़ को और मजबूत करने के प्रयासों के तहत चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की राजनीतिक विचारधारा को अब स्कूल और कॉलेजों से संबंधित राष्ट्रीय पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा। चीन के शिक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि ‘‘नए युग के लिए चीनी विशिष्टताओं के साथ समाजवाद पर शी चिनफिंग के विचार’’ को सभी स्तरों पर छात्रों के लिए पाठ्यपुस्तकों में शामिल किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: अफगान संकट पर दुनिया के 'सुपरपॉवर' देशों की मीटिंग, तालिबान पर लगेंगे कड़े प्रतिबंध

सरकार संचालित अखबार चाइना डेली के अनुसार देश की राष्ट्रीय पाठ्यपुस्तक समिति द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि पाठ्यपुस्तकों में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) और राष्ट्र की इच्छाशक्ति दिखेगी। राष्ट्रीय पाठ्यपुस्तक समिति के सदस्य हान झेन ने कहा कि राष्ट्रपति की राजनीतिक विचारधारा को विभिन्न विषयों में शामिल किया जाएगा। नए पाठ्यक्रम के अनुसार प्राथमिक विद्यालय देश, सीपीसी और समाजवाद के लिए प्रेम पर ध्यान केंद्रित करेंगे। वहीं, माध्यमिक विद्यालयों के पाठ्यक्रम में बुनियादी राजनीतिक निर्णयों और मतों से छात्रों की मदद करने के लिए प्रत्यक्ष बोधात्मक अनुभव और ज्ञान अध्ययन शामिल होगा। सरकार संचालित ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि कॉलेज स्तर पर सैद्धांतिक सोच की स्थापना पर अधिक ध्यान दिया जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़