पहले पिता ने किया बलात्कार फिर होटल ले जाकर नेताओं से कराया गंदा काम, 28 लोगों पर मामला दर्ज

पहले पिता ने किया बलात्कार फिर होटल ले जाकर नेताओं से कराया गंदा काम, 28 लोगों पर मामला दर्ज

17 साल की एक लड़की ने अपने पिता, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के नेताओं सहित 28 लोगों पर बलात्कार का आरोप लगया है। बता दें कि पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मामला दर्ज कर दिया है।

उत्तर प्रदेश के ललितापुर से एक ऐसी दर्दनाक खबर सामने आई है जिसको सुनकर शायद आपके भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे। हिंदी अखबार NBT में छपी एक खबर के मुताबिक, 17 साल की एक लड़की ने अपने पिता, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के नेताओं सहित 28 लोगों पर बलात्कार का आरोप लगया है। बता दें कि पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मामला दर्ज कर दिया है। आरोपियों में लड़की के पिता, एसपी के जिला अध्यक्ष, शहर अध्यक्ष, बीएसपी के जिलाध्यक्ष और कई अन्य लोग शामिल है। 

इसे भी पढ़ें: बाथरूम में जबरन घुसकर लड़की के साथ किया गैंगरेप, एक आरोपी गिरफ्तार

छठी क्लास से हो रहा लड़की के साथ दुष्कर्म

लड़की ने पुलिस से शिकायत करते हुए बताया कि, जब वह छठी क्लास में थी तब उसके पिता ने उसे अशलील फिल्में दिखाकर शारिरिक संबध बनाने का लालच दिया, लेकिन लड़की ने ऐसा कुछ भी करने से साफ मना कर दिया। लड़की के मना करने के बाद उसके पिता ने नए कपड़े दिलाकर लालच दिया और बाइक पर घुमाने बाहर ले गया। अपनी खुद की बेटी को सुनसान खेत में ले जाकर पहले चुप रहने की चेतावनी दी और फिर उसके साथ बलात्कार किया। बलात्कार करने के बाद अपनी बेटी को पिता ने धमकी दी की अगर उसने इस बारे में किसी को बताया तो वह उसकी मां को मार डालेगा। 

होटल ले जाकर करवाया बलात्कार

कुछ दिनों बाद पिता अपनी बेटी को स्कूल से होटल ले गया और वहां नशीला पर्दाथ वाला नाशता कराया जिसके बाद बेटी को एक महिला के हाथों सौंप दिया। महिला लड़की को एक कमरे में ले गई और उसे अकेले वहां छोड़कर चली गई। अकेले कमरे में बेहोशी के हालत में लड़की के कमरे में आदमी आया। लड़की को जब होश आया तो उसके कपड़े और जुते सही जगह पर नहीं मिले। लड़की ने आरोप लगाया है कि, एसपी नेता ने भी उसके साथ बलात्कार किया है और यह सब कराने में उसके खुद के पिता का हाथ है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।